बिजली पर सीएम की अधिकारियों को खरी-खरी, स्थिति सुधारें..नहीं तो कार्रवाई के लिए रहें तैयार

सीएम ने साफ कहा कि अधिकारी इसे गंभीरता से लें. जिन जिलों में दो से तीन महीने में बिजली आपूर्ति की स्थिति नहीं सुधरी, वहां के अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी.

News18 Jharkhand
Updated: June 12, 2019, 11:55 AM IST
बिजली पर सीएम की अधिकारियों को खरी-खरी, स्थिति सुधारें..नहीं तो कार्रवाई के लिए रहें तैयार
सीएम रघुवर दास (फाइल फोटो)
News18 Jharkhand
Updated: June 12, 2019, 11:55 AM IST
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बिजली विभाग के पदाधिकारियों को निर्बाध बिजली मुहैया कराने के आदेश दिया है. इसके लिए सरकार की तरफ से हर संभव मदद देने का भरोसा दिलाया गया. सीएम ने साफ कहा कि अधिकारी इसे गंभीरता से लें. जिन जिलों में दो से तीन महीने में बिजली आपूर्ति की स्थिति नहीं सुधरी, वहां के अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी.

सीएम ने राजधानी में बिजली संकट पर रांची के जीएम से पूछा कि कब तक बिजली निर्बाध होगी. जीएम ने तीन से चार महीने का समय बताया. इस जवाब पर जीएम पर बरसते हुए सीएम ने कहा कि जुलाई तक जीरो पावर कट नहीं हुआ, तो कार्रवाई के लिए तैयार रहें. सरकार किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं करेगी.



सीएम झारखंड विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के महाप्रबंधकों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि ग्रामीण जनता 70 साल से बिजली की बाट जोह रही है. उनतक बिजली पहुंचा दी गई है. अब उन्हें 24 घंटे बिजली मुहैया कराने के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार की जा रही है. सभी महाप्रबंधक इस काम पर ध्यान देकर इसे पूर्ण कराएं.

सीएम ने कहा कि गांव- गांव में स्ट्रीट लाइट लगायी जा रही है. इसके लिए जो भी मदद की जररूत हो, महाप्रबंधक उसे पूरा कराने की कोशिश करें. नये कनेक्शन दिये गये हैं, इसलिए लोड बढ़ा है. सीएम ने निर्देश दिया कि निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए मैनपावर सहित अन्य जरूरतों की सूची तैयार कर उस पर तुरंत पहल करें. टाइमलाइन बनाकर काम को पूरा करें.

बैठक में सीएम के अलावा उनके प्रधान सचिव सुनील वर्णवाल, उर्जा सचिव वंदना डाडेल, झारखंड विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के निदेशक राहुल पुरवार समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें- भीमा कोरेगांव केस में फादर स्टेन स्वामी के घर महाराष्ट्र पुलिस की छापेमारी

रघुवर सरकार का स्वर्णकार जाति को तोहफा, दिया ओबीसी-2 का दर्जा
Loading...

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...