ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को लेकर सीएम का निर्देश- सिर्फ आंकड़ों की बाजीगरी नहीं, जमीन पर काम करें अधिकारी

सीएम रघुवर दास ने कहा कि ईज ऑफ डूइंड बिजनेस में झारखंड को पहले स्थान पर लाना है. इसके लिए विभिन्न सेक्टर्स में हो रहे काम की गति को तेज करना है

News18 Jharkhand
Updated: June 18, 2019, 1:11 PM IST
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को लेकर सीएम का निर्देश- सिर्फ आंकड़ों की बाजीगरी नहीं, जमीन पर काम करें अधिकारी
ईज आफ डूइंग बिजनेस पर समीक्षा बैठक
News18 Jharkhand
Updated: June 18, 2019, 1:11 PM IST
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के स्टेटस को लेकर सीएम रघुवर दास ने समीक्षा बैठक की. इस बैठक में राज्य में निवेश को बढ़ावा देने के लिए सभी विभागों को समन्वय के साथ काम करने का निर्देश दिया गया. बैठक में कई विभागों के सचिव भी मौजूद रहे.

सिर्फ कागजों पर ही नहीं, जमीन पर हो काम 

समीक्षा बैठक में राज्य में औद्योगिक इकाइयों को हर तरह की सुविधा देने पर जोर दिया गया. सीएम रघुवर दास के सामने कई सचिवों ने अपडेट्स दिये. सीएम ने अधिकारियों को साफ कहा कि सिर्फ कागजों पर ही आंकड़ों के माध्यम से राज्य को अव्वल न दिखाएं, बल्कि जमीनी स्तर पर काम करें.

झारखंड को बनाना है नंबर वन 

सीएम रघुवर दास ने कहा कि ईज ऑफ डूइंड बिजनेस में झारखंड को पहले स्थान पर लाना है. इसके लिए विभिन्न सेक्टर्स में हो रहे काम की गति को तेज करना है. राज्य में औद्योगिक विकास होने से रोजगार के सृजन होंगे, जिससे पलायन की समस्या दूर होगी. उन्होंने कहा कि निवेशकों के साथ अधिकारियों का व्यहार अच्छा होना चाहिए.

डाटा ऑनलाइन करने का निर्देश 

मुख्य सचिव डीके तिवारी ने कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए विभिन्न विभागों को कड़े निर्देश दिये गये हैं. डाटा को आफलाइन से ऑनलाइन करने को कहा गया है, ताकि चीजें साफ-साफ प्रदर्शित हों. उद्योग विभाग के सचिव के रवि कुमार ने कहा कि
राज्य में निवेश का मार्ग प्रशस्त करने के लिए विभागों को काम दिया गया है. कई विभागों में कमियां हैं, जिन्हें दूर करने को कहा गया है.

रिपोर्ट- राजेश कुमार

ये भी पढ़ें- झारखंड में अब वेटेज फॉर्मूले के तहत होगा शिक्षकों का तबादला, नई नीति के बारे में पढ़ें यहां

बिजली के मुद्दे हेमंत का प्रहार, वोट की चोट पर किकआउट होगी रघुवर सरकार

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...