मानसूत्र सत्र में सरकार को घेरने की तैयारी में कांग्रेस, बिजली-पानी समेत ये मुद्दे होंगे अहम

कांग्रेस राज्य सरकार पर सूबे की बदहाल विधि व्यवस्था, स्वास्थ्य सेवा, बिजली-पानी की किल्लत समेत शिक्षा के गिरते स्तर को लेकर हमला बोलने की तैयारी में है. इसके तहत शनिवार को पूरे प्रदेश मे कांग्रेस जन आंदोलन शुरु करेगी.

Manoj Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 4, 2019, 5:25 PM IST
मानसूत्र सत्र में सरकार को घेरने की तैयारी में कांग्रेस, बिजली-पानी समेत ये मुद्दे होंगे अहम
मानसून सत्र में सरकार को घेरने की तैयारी में कांग्रेस
Manoj Kumar
Manoj Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 4, 2019, 5:25 PM IST
राज्य सरकार के कामकाज को लेकर कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने आ गई है. मानसून सत्र के पहले कांग्रेस जहां सरकार की विफलता को लेकर जन आंदोलन चलाने और सरकार को घेरने की बात कह रही है. वहीं भाजपा कांग्रेस को जन आंदोलन शुरु करने की बजाये पार्टी के अंदर की समस्याओं को सुलाझाने की नसीहत दे रही है.

विधि व्यवस्था समेत कई अन्य मुद्दों पर जन आंदोलन करेगी कांग्रेस

कांग्रेस राज्य सरकार पर सूबे की बदहाल विधि व्यवस्था, स्वास्थ्य सेवा, बिजली-पानी की किल्लत समेत शिक्षा के गिरते स्तर को लेकर हमला बोलने की तैयारी में है. इसके तहत शनिवार को पूरे प्रदेश मे कांग्रेस जन आंदोलन शुरु करेगी, ताकि विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान सरकार को घेरा जा सके. इसके साथ ही विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर भी कवायद तेज कर दी गई है. कांग्रेस नेताओं की माने तो इन सब को लेकर तीन स्तरों पर तैयारी चल रही है.

कांग्रेस को घर की समस्या सुलझाने की नसीहत

कांग्रेस के इस रणनीति पर भाजपा नेता चुटकी ले रहे हैं. उनका कहना है कि जनता की समस्या सुलझाने का दावा करने वाली कांग्रेस पहले अपने घर की समस्याओं को सुलझा ले. बीजेपी के महामंत्री दीपक प्रकाश ने चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस पहले पार्टी के अंदर के कलह को शांत करे, उसके बाद जनता की चिंता करे. वहीं भाजपा नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे पर चुटकी लेते हुए कहा कि पार्टी अध्यक्ष ही रणछोड़ गांधी हो गये हैं. ऐसे में जनता की बात करनी प्रदेश कांग्रेस के लिए बेमानी है.

अंदरूनी कलह के बीच मानसून सत्र में सरकार को घेरेगी कांग्रेस

गौरतलब है कि कांग्रेस के अंदर गुटबाजी चरम पर है. लोकसभा चुनाव में हार का ठीकरा नेता एक-दूसरे पर फोड़ रहे हैं. बावजूद इसके बीच पार्टी ने राज्य सरकार की विफलताओं को लेकर जन आंदोलन छेड़ने की रणनीति बनायी है. ऐसे में भाजपा नेताओं के आरोप और अंदरूनी कलह के बावजूद कांग्रेस कैसे मानसून सत्र के दौरान सरकार को घेरती है यह देखना दिलचस्प होगा.
Loading...

ये भी पढ़ें - बीजेपी की रणनीति को लेकर नीरा यादव और सरयू राय आमने-सामने

ये भी पढ़ें - मानसून की पहली बारिश ने बिगाड़ी राजधानी रांची की सूरत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 5:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...