रांची: रेप की शिकार 6 लड़कियों का कहां होगा प्रसव? कोरोना के साये में रिम्स और सदर अस्पताल
Ranchi News in Hindi

रांची: रेप की शिकार 6 लड़कियों का कहां होगा प्रसव? कोरोना के साये में रिम्स और सदर अस्पताल
रांची के स्नेहाश्रय नारी निकेतन में रह रहीं रेप की शिकार 6 नाबालिग लड़कियां जल्द मां बनने वाली है.

नारी निकेतन में काम करने वाली सुंधारी लकड़ा ने बताया कि यहां रह रहीं छह नाबालिग लड़कियां जल्द मां बनने वाली हैं. लेकिन कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से बचाते हुए इनका प्रसव करना, निकेतन के लिए चिंता का विषय है.

  • Share this:
रांची. कांके इलाके के स्नेहाश्रय नारी निकेतन में रह रहीं छह नाबालिग लड़कियों का प्रसव (Delivery) कहां और कैसे होगा, इस सवाल से निकेतन के लोग परेशान है. 15 दिन के अंदर इन लड़कियों का प्रसव होना है. लेकिन कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के चलते रांची के रिम्स (RIMS) और सदर अस्पताल में प्रसुति विभाग बंद हैं. ऐसे में इन बच्चियों को कहां भर्ती कराया जाए, यह सवाल नारी निकेतन के लोगों को परेशान कर दिया है. ये दुष्कर्म की शिकार लड़कियां हैं, जो अब बच्चों को जन्म देने वाली हैं.

सरकार से मदद की गुहार 

असमंजस की इस स्थिति में नारी निकेतन ने महिला कल्याण विभाग से मदद मांगी है. हालांकि अबतक विभाग से कोई निर्देश नहीं मिला है. इस बीच जिला चाइल्ड वेलफेयर कमिटी ने भी इस सिलसिले में सरकार से मदद मांगी है. कमिटी का कहना है कि मौजूद हालात में इन बच्चियों का सरकारी अस्पतालों में प्रसव करना संभव नहीं दिख रहा. ऐसे में निजी अस्पताल का रूख करना पड़ेगा. निजी अस्पताल में प्रसव कराने में खर्च आएंगे. ऐसे में सरकार को इस दिशा में मदद करनी चाहिए.



जिला सीडब्ल्यूसी की सदस्य तनुश्री सरकार ने बताया कि ये बच्चियां दुष्कर्म पीड़िता हैं. और अब बच्चों को जन्म देने वाली हैं. इनका मामला पोक्सो कोर्ट में चल रहा है. इनको लेकर कमिटी भी गंभीर है. लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते इनके प्रसव को लेकर बड़ी परेशानी खड़ी हो गई है.
नारी निकेतन में काम करने वाली सुंधारी लकड़ा ने बताया कि स्नेहाश्रय नारी निकेतन में फिलहाल 42 महिलाएं रह रही हैं. इनमें से छह नाबालिग लड़कियां जल्द मां बनने वाली हैं. कोरोना संक्रमण से बचाते हुए इनका प्रसव करना, नारी निकेतन के लिए चिंता का विषय है. कोरोना के चलते गर्भवतियों की हर महीने होने वाली जांच भी इन लड़कियों की नहीं हो पाई.

कोरोना संक्रमण के चलते रिम्स और सदर अस्पताल में प्रसुति विभाग बंद 

बता दें कि रांची के रिम्स और सदर अस्पताल में बच्चों को जन्म देने वाली दो महिलाओं के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद प्रसुति विभागों को बंद कर दिया गया है. सदर अस्पताल में संक्रमित महिला का प्रसव कराने वाली चार नर्सें और एक महिला भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई. जिसके बाद प्रसुति विभाग को बंद कर डॉक्टर को भी क्वारंटाइन में भेज दिया गया है. उधर रिम्स में भी प्रसुति विभाग की डॉक्टर और नर्सों को क्वारंटाइन में भेजा गया है.

इनपुट- ओमप्रकाश

ये भी पढ़ें- कोरोनामुक्त होने की राह पर देवघर जिला, दोनों मरीजों की दो रिपोर्ट आई निगेटिव

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज