3 घंटे तक एम्बुलेंस में पड़ी रही Corona पीड़ित महिला, बेटे की भर्ती की गुहार पर डॉक्टर का जवाब- नो बेड
Ranchi News in Hindi

3 घंटे तक एम्बुलेंस में पड़ी रही Corona पीड़ित महिला, बेटे की भर्ती की गुहार पर डॉक्टर का जवाब- नो बेड
रिम्स में कोरोना पीड़ित महिला को डॉक्टरों ने नो बेड कहकर भर्ती लेने से इनकार कर दिया

रांची के रिम्स (RIMS) में एक युवक को अपनी कोरोना पीड़ित (Corona Infected) मां को भर्ती कराने के लिए 3 घंटे तक जद्दोजहद करनी पड़ी. पहले डॉक्टरों ने नो बेड कहकर इंकार कर दिया. फिर बाद में न्यूज़ 18 की पहल पर महिला को भर्ती लिया गया.

  • Share this:
रांची. झारखंड की राजधानी रांची में रिम्स (RIMS) के स्टेट कोविड सेंटर के बाहर कोरोना पॉजिटिव महिला (Corona Infected Woman) तीन घंटे से एम्बुलेंस में पड़ी रही और उसका बेटा कोविड-19 के डॉक्टरों के सामने मां को भर्ती कर इलाज शुरू करने की चिरौरी करता रहा. लेकिन सेंटर में बेड खाली नहीं होने की बात बताकर डॉक्टरों ने भर्ती लेने से इंकार कर दिया. बेटे का कहना था कि उसके पास पैसे भी नहीं है. मां को जो ऑक्सीजन एम्बुलेंस में दिया जा रहा है वह भी समाप्त होने वाला था, ऐसे में वह क्या करे.

यहां का है मामला
दरअसल सड़क दुर्घटना की शिकार लेस्लीगंज की महिला को रांची के राज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. जहां उसके सिर का ऑपरेशन किया गया. इस दौरान वह कोरोना निगेटिव से पॉजिटिव हो गयी. हर दिन हजारों की बिल और मां की बिगड़ती तबीयत से परेशान बेटे की गुहार पर राज हॉस्पिटल ने महिला को रिम्स के ट्रामा सेंटर स्थित कोविड-19 सेंटर भेज दिया. पर यहां के डॉक्टरों ने बेड खाली नहीं होने की बात कह महिला को भर्ती लेने से इंकार कर दिया. इस दौरान करीब 3 घंटे तक टूटती सांस के साथ महिला एम्बुलेंस में ही पड़ी रही.


रिम्स के अधीक्षक ने कही ये बात


पूरे मामले पर रिम्स के अधीक्षक डॉ. विवेक कश्यप ने कहा कि रिम्स के ट्रामा सेंटर में बेड खाली नहीं था. इसलिए थोड़ी परेशानी हुई. पर जैसे ही बेड खाली हुई राजकुमारी देवी को भर्ती कर लिया गया है.

महिला के बेटे ने न्‍यूज़ 18 को दिया धन्‍यवाद
मां को बेड मिलने के बाद बीमार महिला के बेटे ने न्यूज़ 18 टीम को धन्यवाद दिया और कहा कि टीम के प्रयास से उनकी मां भर्ती हो पाई और अब ठीक होने की भी उम्मीद जगी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज