Home /News /jharkhand /

रांची नगर निगम में भ्रष्टाचार: पैकेट में इतने डाल दीजिए, बिना कागजात के बन जाते हैं जन्म प्रमाण पत्र!

रांची नगर निगम में भ्रष्टाचार: पैकेट में इतने डाल दीजिए, बिना कागजात के बन जाते हैं जन्म प्रमाण पत्र!

रांची नगर निगम में जन्म प्रमाण पत्र बनाने के नाम पर भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है.

रांची नगर निगम में जन्म प्रमाण पत्र बनाने के नाम पर भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है.

Corruption in Ranchi Municipal Corporation: जन्म प्रमाण पत्र बनाने की सच्चाई जानने के लिए जब न्यूज-18 की टीम रांची नगर निगम पहुंची. और वहां खड़े एक सुरक्षाकर्मी से कहा कि हमें तीन बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र बनाना है. लेकिन कोई कागजात नहीं है. इसपर सुरक्षाकर्मी ने बताया कि यहां सब बनता है. बस आप पैसे खर्च करने के लिए तैयार रहिए.

अधिक पढ़ें ...

रांची. सत्ता और प्रशासनिक सिस्टम में सुधार और कार्यशैली में बदलाव का दावा किया जाता है. लेकिन सच्चाई यह है कि आम आदमी हर दिन सिस्टम की जड़ में घुसे करप्शन (Corruption) से परेशान हैं. आज जो हम आपको बताने जा रहे हैं. उसे जानकर आपके होश उड़ जाएंगे. आप यह भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि आम आदमी की सुविधा को दरकिनार कर पूरा सिस्टम किस तरह करप्शन को लेकर लचीला हो जाता है. चलिए आपको बताते हैं रांची नगर निगम (Ranchi Municipal Corporation) की जड़ में घुसे भ्रष्टाचार के बारे में.

सिस्टम की जड़ में घुसे करप्शन से आम आदमी कितना परेशान है. आज हम आपको उसकी एक बानगी बताने जा रहे हैं. दरअसल कमल तोड़ने के लिए कीचड़ में घुसना पड़ता है, लिहाजा न्यूज- 18 ने सच्चाई को उजागर करने के लिए एक स्टिंग ऑपरेशन किया. इस स्टिंग ऑपरेशन ने रांची नगर निगम की पूरी हकीकत को सामने लाकर रख दिया. सिस्टम को ऑनलाइन बनाकर पारदर्शी बनाने का दावा करने वाली व्यवस्था पैसे के आगे किस तरह घुटने टेक देती है. जरा इसकी एक तस्वीर देखिए. रांची नगर निगम में जन्म प्रमाण पत्र बनाने के नाम पर किस तरह पैसे का खेल खेला जाता है. और आम आदमी की मजबूरी का फायदा उठाया जाता है. आज हम उसी का पर्दाफाश करने जा रहे हैं. हमारी स्टिंग ऑपरेशन में यह सच्चाई सामने आयी कि जन्म प्रमाण पत्र के लिए आपके पास कोई जरूरी कागज हो या न हो, आपके जेब का वजन भारी होना चाहिए.

जन्म प्रमाण पत्र बनाने की सच्चाई जानने के लिए जब हमने रांची नगर निगम में प्रवेश किया. और वहां खड़े एक सुरक्षाकर्मी से कहा कि हमें तीन बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र बनाना है. और हमारे पास जन्म से जुड़ा कोई कागज नहीं है. क्या जन्म प्रमाण पत्र बन सकता है, इसपर सुरक्षाकर्मी ने हमें बताया कि यहां सब बनता है. बस आप पैसे खर्च करने के लिए तैयार रहिए.

इसके बाद उसने निगम कार्यालय के अंदर जाकर एक कर्मचारी को बुलाया. उस कर्मचारी ने अपना नाम बाबूराम बताया और फिर शुरू हुआ डील का खेल. साथ ही यह जानने और बताने का खेल कि जरूरी कागज नहीं रहने पर भी जन्मप्रमाण पत्र कैसे बनाये जाते हैं और उसमें कितना खर्च आता है और पैसा कहां कहां जाता है.

बाबूराम ने हमारे सामने कई लोगों से फोन पर बात की और फिर तीन बच्चों के प्रमाण पत्र का खर्च कुल 24 हजार रुपये बताया. उसने बताया कि पैसे वार्ड पार्षद, अस्पताल और फिर नगर निगम में हर कुर्सी पर देने पड़ते हैं. तब जाकर प्रमाण पत्र बनता है. जब हमने यह बताया कि तीन बच्चों में एक बच्चे का जन्म घर पर हुआ है. और बाकी दो बच्चों के जन्म का अस्पताल से जुड़ा कोई दस्तावेज नहीं है. इसपर बाबूराम ने बताया कि आप सिर्फ पैसे खर्च करने के लिए तैयार रहें. बाकी काम वह संभाल लेंगे.

तीन बच्चों के जन्मप्रमाण पत्र की डील कुल 24 हजार में फाइनल हुई. इसमें बार बार कहने के बावजूद एक रुपया भी कम नहीं किया गया. साथ ही काम से 16 से 17 हजार रुपये एडवांस में मांगे गये. बाकी पैसे प्रमाण पत्र मिलने के बाद. बाबूराम ने साफ कहा कि वह रांची नगर निगम का स्टाफ है. और आमलोगों को दलालों के चक्कर से बचाने के लिए उसने यह जिम्मेदारी उठायी है. उसने यह भी बताया कि वह पहले भी कई लोगों का इस तरह प्रमाण पत्र बना चुका है.

Tags: Corruption, Jharkhand news, Ranchi Municipal Corporation, Ranchi news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर