हॉर्सट्रेडिंग मामले में पूर्व सीएम रघुवर दास की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, PC एक्ट जोड़ने पर फैसला 10 जून तक सुरक्षित

पूर्व सीएम रघुवर दास का नाम इस मामले में बाद में जोड़ा गया.

पूर्व सीएम रघुवर दास का नाम इस मामले में बाद में जोड़ा गया.

Rajya Sabha Election-2016 Horse Trading: अगर कोर्ट इस मामले में प्रीवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट लगाने का फैसला सुनाती है, तो इस मामले की जांच पीसी एक्ट के तहत होगी. और दोषी पाये जाने पर पीसी एक्ट के तहत ही आरोपियों पर कार्रवाई होगी.

  • Share this:

रांची. राज्यसभा चुनाव-2016 हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) मामले में पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास (Raghuvar Das), उनके प्रेस सलाहकार अजय कुमार और एडीजी अनुराग गुप्ता (Anurag Gupta) की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. सिविल कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई के बाद पीसी एक्ट लगाने के मामले में 10 जून तक के लिए अपना फैसला सुरक्षित रख लिया. अगर कोर्ट इस मामले में प्रीवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट लगाने का फैसला सुनाता है, तो इस मामले की जांच पीसी एक्ट के तहत होगी. और दोषी पाये जाने पर पीसी एक्ट के तहत ही आरोपियों पर कार्रवाई होगी. बता दें इस मामले में पीसी एक्ट जोड़ने को लेकर केस के अनुसंधान अधिकारी ने कोर्ट में आवेदन दिया था.

बाबूलाल ने की थी चुनाव आयोग से शिकायत

पूरा मामला राज्यसभा चुनाव- 2016 हॉर्स ट्रेडिंग से जुड़ा हुआ है. तब बड़कागांव की तत्कालीन विधायक निर्मला देवी ने रांची के जगन्नाथपुर थाने में मामला दर्ज कराया था. अपने बयान में पूर्व विधायक ने पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, उनके प्रेस सलाहकार अजय कुमार और एडीजी अनुराग गुप्ता पर राज्यसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी के पक्ष में वोट देने के बदले पैसे की पेशकश का आरोप लगाया था. इस मामले में एक ऑडियो और वीडियो भी वायरल हुआ था. जिसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने इसको लेकर चुनाव आयोग में शिकायत की थी. जांच में मामला सही पाये जाने पर राज्य सरकार को इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया गया था. जिसके बाद जगन्नाथपुर थाने में 29 मार्च 2018 को प्राथमिकी दर्ज हुई थी.

बाद में जोड़ा गया रघुवर दास का नाम
प्राथमिकी में पहले एडीजी अनुराग गुप्ता, रघुवर दास के प्रेस सलाहकार अजय कुमार को हॉर्स ट्रेडिंग मामले में आरोपी बनाया गया था. बाद में जांच के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास का भी नाम सामने आया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज