रांची के रिम्‍स में 528 बेड वाला कोविड अस्‍पताल तैयार, CM हेमंत सोरेन ने किया उद्घाटन

रांची के रिम्स में 528 बेड वाला अस्थायी कोविड हॉस्पिटल बनकर तैयार हुआ.

रांची के रिम्स में 528 बेड वाला अस्थायी कोविड हॉस्पिटल बनकर तैयार हुआ.

Jharkhand COVID-19 Update: रांची के रिम्स में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए मल्टीस्टोरी पार्किंग में 327 और रिम्स की पुरानी बिल्डिंग में 128 ऑक्सीजन युक्त बेड के अलावा ऑन्कोलॉजी डिपार्टमेंट में 73 ICU बेड के साथ शुरू हुआ अस्थायी कोविड हॉस्पिटल.

  • Share this:

रांची. झारखंड में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है. खासकर संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों की व्यवस्था सुधारने और नए कोविड हॉस्पिटल का काम भी चल रहा है. इसी क्रम में राजधानी रांची में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (RIMS) में 528 बेड की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल का ऑनलाइन उद्घाटन किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में जैसे-जैसे चुनौतियां सामने आ रही हैं, व्यवस्था और सुविधाओं को दुरुस्त किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि सीमित संसाधनों के बीच विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बेड औऱ वेंटिलेटर समेत अन्य चिकित्सीय संसाधन बढ़ाए जा रहे हैं. उन्होंने भरोसा जताया कि बेहतर प्रबंधन और राज्यवासियों के सहयोग से कोरोना के खिलाफ चल रही जंग जीतेंगे. सीएम ने कहा कि राज्य के अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों को बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और अन्य चिकित्सीय संसाधनों की कमी नहीं हो, सरकार इसका लगातार प्रयास कर रही है. रिम्स में बने अस्थायी कोविड अस्पताल से मरीजों को फायदा होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग जारी है और आगे भी मजबूती के साथ जारी रहेगी.

रिम्स के कोविड अस्पताल से मिलेगी राहत

रिम्स परिसर में बनाए गए अस्थायी कोविड अस्पताल से मरीजों को बेड मिलने में काफी सहूलियत हो जाएगी. आपको बता दें कि रिम्स के मल्टीस्टोरी पार्किंग में 327 ऑक्सीजन युक्त बेड, ओंकोलॉजी डिपार्टमेंट में 73 आईसीयू बेड और रिम्स की पुरानी बिल्डिंग में 128 ऑक्सीजन युक्त बेड की व्यवस्था की गई है. इसके अलावा एनटीपीसी के सहयोग से 108 और बेड लगाए जा रहे हैं. इस तरह रिम्स में कोविड-19 को लेकर ऑक्सीजन युक्त बेड की संख्या बढ़कर लगभग 800 औऱ वेंटिलेटर भी लगभग 250 हो गए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज