झारखंड में और खतरनाक हुआ कोरोना, UK स्ट्रेन और डबल वेरियंट की दस्तक, मचा हड़कंप

Jharkhand Corona: ILS भुनेश्वर की रिपोर्ट से स्पष्ट हो गया है कि झारखंड में भी covid19 के सीक्वेंस म्यूटेंट वेरियंट- UK वेरियंट और डबल वेरियंट दस्तक दे चुका है. कोरोना के घातक वेरियंट के केस मिलने की पुष्टि के बाद सरकार और स्वास्थ्य महकमा अलर्ट हो गया है.

Jharkhand Corona: ILS भुनेश्वर की रिपोर्ट से स्पष्ट हो गया है कि झारखंड में भी covid19 के सीक्वेंस म्यूटेंट वेरियंट- UK वेरियंट और डबल वेरियंट दस्तक दे चुका है. कोरोना के घातक वेरियंट के केस मिलने की पुष्टि के बाद सरकार और स्वास्थ्य महकमा अलर्ट हो गया है.

Jharkhand Corona: ILS भुनेश्वर की रिपोर्ट से स्पष्ट हो गया है कि झारखंड में भी covid19 के सीक्वेंस म्यूटेंट वेरियंट- UK वेरियंट और डबल वेरियंट दस्तक दे चुका है. कोरोना के घातक वेरियंट के केस मिलने की पुष्टि के बाद सरकार और स्वास्थ्य महकमा अलर्ट हो गया है.

  • Share this:
रांची. झारखंड में कोरोना संक्रमण को लेकर चिंताजनक रिपोर्ट आई है. ILS भुवनेश्वर की जांच में एक तिहाई संक्रमण में कोविड़19 का म्युटेंट वेरियंट मिला है. UK स्ट्रेन और डबल वेरियंट स्ट्रेन से कोरोना खतरनाक हो गया है. एक जनवरी से 20 मार्च तक राज्य में मिले वैसे कोरोना संक्रमित मरीज जिनका RT- पीसीआर टेस्ट का सीटी वैल्यू 25 से कम था, उनमें से 52 लोगों का सैम्पल जीनोम सीक्वेंस जानने के लिए 52 सैम्पल, क्षेत्रीय जीनोम सीक्वेंसिंग लेबोरेटरी (RGSC) और इंस्टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंस ( ILS) भुवनेश्वर भेजे गए थे. 25 सीटी वैल्यू वाले कुल 52 सैम्पल में से 23 रिम्स, 18 MGM, चार हजारीबाग मेडिकल कॉलेज, इटकी रांची के 05 और पलामू के दो सैंपल थे. 27 मार्च से 02 अप्रैल तक एयर कार्गो से भेजे गए 52 सैंपल में से 39 सैंपल के जीनोम सिक्वेंसिंग रिपोर्ट ILS भुवनेश्वर ने भेजी है जिसके नतीजे चौकाने वाले हैं.

39 जांचे गए सैंपल में 13 सैंपल में कोविड-19 वायरस का म्यूटेंट वेरियंट मिला है जो करीब 33 % है. जिन 13 RTPCR सैंपल में कोरोना का म्यूटेंट वेरियंट मिला है, उसमें 11 सैंपल रांची के हैं जबकि दो जमशेदपुर के हैं. अगर जेंडर की बात करें तो आठ संक्रमित पुरुषों और पांच महिलाओं में कोरोना का म्यूटेंट वेरियंट की पुष्टि हुई है.

Youtube Video


सरकार हुई सतर्क
राज्य में कोरोना के घातक वेरियंट के केस मिलने की पुष्टि के बाद सरकार और स्वास्थ्य महकमा अलर्ट हो गया है. अब राज्य में कोरोना से जिन लोगों की मौत हुई हैं, उनके सैम्पल और वैक्सीन लेने के बाद भी संक्रमित हो रहे लोगों का सैंपल जांच के लिए ILS भुवनेश्वर भेजा जाएगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि राज्य में कोरोना से अधिक संख्या में हो रही मौत के पीछे कहीं कोविड-19 का जीनोम म्यूटेंट वेरियंट का ही तो हाथ नहीं है और क्या वर्तमान वैक्सीन का असर कोरोना के नए वेरियंट पर नहीं हो रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज