Assembly Banner 2021

Covid-19 Update: झारखंड में कोरोना वायरस के 1882 नए मामले आए सामने, इतने की मौत

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमण के 1882 नये मामले सामने आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,32,790 हो गयी.  (सांकेतिक फोटो)

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमण के 1882 नये मामले सामने आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,32,790 हो गयी. (सांकेतिक फोटो)

9249 संक्रमितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों (Hospitals) में जारी है. विभाग के मुताबिक, वृहस्पतिवार को कुल 28,568 नमूनों की जांच की गयी.

  • Share this:
रांची.  झारखंड (Jharkhand) में बृहस्पतिवार को कोविड-19 (COVID-19) के 1882 नए मामले आए तथा सात और लोगों की मौत हो गयी. स्वास्थ्य विभाग जारी रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना वायरस संक्रमण से सात और लोगों की मौत हो जाने से मृतकों की कुल संख्या 1158 हो गयी है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमण के 1882 नये मामले सामने आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,32,790 हो गयी. राज्य में अब तक 1,22,383 लोग ठीक हो चुके हैं. इसके अलावा 9249 संक्रमितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों (Hospitals) में जारी है. विभाग के मुताबिक, वृहस्पतिवार को कुल 28,568 नमूनों की जांच की गयी.



वहीं, कल खबर सामने आई थी कि झारखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने राजधानी रांची, धनबाद और जमशेदपुर समेत पांच जिलों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया है. इसके साथ ही धारा 144 लगा दी गई है. रांची, धनबाद, जमशेदपुर, बोकारो, पलामू में रात 8 से सुबह 6 बजे तक सबकुछ बंद रहेगा. सीएम हेमंत सोरेन ने इस संबंध में एक हाईलेवल मीटिंग बुलाई, बैठक के बाद CM ने कहा कि अभी कम पाबंदी लगाई गई हैं. बाहर जाने वाले और आने वाले सभी लोगों को एहतियात बरतनी होगी. सरकार के निर्देशों का पालन करें. हम स्वास्थ सेवा बेहतर करेंगे, 5000 अतिरिक्त बेड तैयार करने का निर्देश दिए गए हैं. पॉजिटिव व्यक्ति घर में आइसोलेटेड रहें, जो नार्मल हैं. जबकि गंभीर व्यक्ति ही अस्पताल जाएं. चिंता बरकरार है. एक जगह जमावड़ा नही लगाएं, मास्क का उपयोग करें. वरना कड़ाई करनी पड़ेगी. वैक्सीन की कमी को लेकर लड़ना नहीं है, बल्कि समाधान निकालना है.



5000 अतिरिक्त बेड तैयार करने का निर्देश दिए
सीएम हेमंत सोरेन ने इस संबंध में एक हाईलेवल मीटिंग बुलाई थी. बैठक के बाद CM ने कहा कि अभी कम पाबंदी लगाई गई हैं. बाहर जाने वाले और आने वाले सभी लोगों को एहतियात बरतनी होगी. सरकार के निर्देशों का पालन करें. हम स्वास्थ सेवा बेहतर करेंगे, 5000 अतिरिक्त बेड तैयार करने का निर्देश दिए गए हैं. पॉजिटिव व्यक्ति घर में आइसोलेटेड रहें, जो नार्मल हैं. जबकि गंभीर व्यक्ति ही अस्पताल जाएं. चिंता बरकरार है. एक जगह जमावड़ा नहीं लगाएं, मास्क का उपयोग करें. वरना कड़ाई करनी पड़ेगी. वैक्सीन की कमी को लेकर लड़ना नहीं है, बल्कि समाधान निकालना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज