Assembly Banner 2021

झारखंड में कोरोना वैक्सीन लेने वाले पहले विधायक बने सीपी सिंह, कहा- पीएम मोदी ने लगवा लिय तो डर कैसा

रांची से बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने टीका लगवाया.

रांची से बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने टीका लगवाया.

1 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने AIIMS के कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर पर स्वदेशी कोवैक्सीन टीका लेकर लोगों को वैक्सीन और भारतीय वैज्ञानिकों पर विश्वास जताने के लिए प्रेरित किया.

  • Share this:
रांची. 1 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने AIIMS के कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर पर स्वदेशी कोवैक्सीन टीका लेकर लोगों को वैक्सीन और भारतीय वैज्ञानिकों पर विश्वास जताने के लिए प्रेरित किया. पीएम मोदी द्वारा लिए गए वैक्सीन के 72 घंटे बाद झारखंड में पूर्व मंत्री और रांची के विधायक सीपी सिंह  वैक्सीन लेने वाले राज्य के पहले विधायक बने. बीते बुधवार को सदर अस्पताल के वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर सीपी सिंह ने पत्नी और भाई के परिवार के साथ टीका लिया तथा सभी से टीका लेने की अपील की. उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने खुद टीका लगवा लिया है तो अब दूसरों को डरने की क्या जरूरत है.

झारखण्ड में कोरोना वैक्सीन को लेकर जनप्रतिनिधियों में उदासीनता साफ दिख रहा है. सत्ताधारी दल हो, विपक्षी दल हो या यहां तक कि स्पीकर हों. 60 वर्ष से अधिक उम्र के होने के बावजूद किसी भी ने वैक्सीन नहीं लिया है.

जानिए! प्रमुख माननीयों के नाम जिनकी उम्र 60 के पार
झारखंड विधानसभा के स्पीकर रबीन्द्रनाथ महतो, संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम, वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, पूर्व कृषि मंत्री नलिन सोरेन, स्टीफन मरांडी, लोबिन हेम्ब्रम, बाबूलाल मरांडी, नीलकंठ सिंह मुंडा प्रमुख हैं, जिनकी उम्र 60 साल के पार है. इनमें से किसी ने भी कोरोना की वैक्सीन नहीं ली है.
क्या कहते है वैक्सीन नहीं लेने वाले विधायक


वैक्सीन लेने के प्रति उदासीन रवैया अपनाने की वजह जानने की कोशिश news18 की टीम ने की तो कोई 5 मार्च के बाद वैक्सीन लेने की बात की तो कोई टीकाकरण केंद्र पर भीड़ कम होने पर वैक्सीन लेने की बात करते दिखे. कुछ ने कहा कि वह जल्द टीका ले लेंगे तो कुछ सवाल सुनते ही खीज गए और बोल बैठे कि यहीं पर भोक दो वैक्सीन.

क्या कहते हैं विशेषज्ञ
सदर अस्पताल ,रांची के  वैक्सीनेशन सेंटर के नोडल ऑफिसर डॉ विमलेश सिंह ने कोरोना के स्वदेशी वैक्सीन को पूर्णतः सुरक्षित बताते हुए कहा कि रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार एक ओर जहां कोविड-19 वैक्सीन से कोरोना संक्रमण का खतरा कम होता है तो दूसरी ओर संक्रमण की स्थिति में होस्पिटलिजेशन की स्थिति नहीं बनती.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज