Home /News /jharkhand /

झारखंड में रंगदारी-लेवी वसूल नेपाल में होटल खरीद रहे अपराधी, झारखंड पुलिस अब इस प्लान पर कर रही काम

झारखंड में रंगदारी-लेवी वसूल नेपाल में होटल खरीद रहे अपराधी, झारखंड पुलिस अब इस प्लान पर कर रही काम

झारखंड में अपराधियों के अर्थतंत्र पर लगाम लगाने की तैयारी.

झारखंड में अपराधियों के अर्थतंत्र पर लगाम लगाने की तैयारी.

Jharkhand News: झारखंड के टॉप अपराधियों की गतिविधियां हाल के दिनों में सबसे ज्यादा सामने आई हैं. पुलिस के द्वारा भी इनके संगठन पर सबसे ज्यादा दबिश भी दी गई है. जिनमें एटीएस की छापेमारी में पुलिस को कई अहम दस्तावेज मिले हैं.

रांची. झारखंड में संगठित अपराधियों का दबदबा इनदिनों पहले की तुलना में बढ़ा है. इसकी अहम वजह है अपराधियों के अर्थतंत्र पर अंकुश न लग पाना. इस वजह से अपराधियों के पास अब आधुनिक विदेशी हथियार होने के साथ-साथ इनके गुर्गों की संख्या भी बढ़ गई है. अपराधी अपने पैसों को रोटेट भी कर रहे हैं और इन पैसों से संपत्ति भी अर्जित कर रहे हैं. हाल के दिनों में अपराधियों की धमक को देखते हुए अब झारखंड पुलिस ने इनके खिलाफ बड़े अभियान की तैयारी की है जिससे इनके अर्थतंत्र पर भी नकेल कसी जा सकेगी. झारखंड पुलिस के एटीएस के द्वारा हाल के दिनों में की गई छापेमारी में कई अहम सुराग पुलिस को हाथ लगे हैं. जिसमें ये पता चला है कि अपराधी अपराध से हुई कमाई के पैसे को रियल एस्टेट के कारोबार में लगा रहे हैं. वहीं, उम्रकैद की सजा काट रहे सुजीत सिन्हा जैसे अपराधी तो न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी संपत्ति खरीद रहे हैं.

अगर बात की जाए अमन साव की तो इस अपराधी ने रांची सहित प्रदेश के दूसरे हिस्सों में भी संपत्ति अर्जित की है. कोयले के काले कारोबार में इसकी तूती बोलती है. जेल में रहने के बावजूद अमन का आतंक पैसो के दम आज भी कायम है. रांची में इसके अलावा के गैंग्स हैं जो भले ही वर्तमान में उतने एक्टिव भले न नजर आ रहे हों, लेकिन उनका आतंक आज भी कायम है.पूरे मामले पर रांची के सिटी एसपी सौरभ बताते हैं कि अपराधी अपराध की घटनाओं को अंजाम दे दहशत फैलाने का काम करते हैं. उसके बाद रंगदारी और लेवी की उगाही करते हैं. इसे देखते हुए पुलिस इनकी संपत्तियों को चिन्हित कर रही है ताकि इनपर नकेल कसी जा सके.

इन तीन बड़े अपराधियों पर नजर
बता दें कि झारखंड के टॉप अपराधियों की सूची में सुजीत सिन्हा, अमन सिंह और अमन साव शामिल हैं.
इनकी आपराधिक गतिविधियां हाल के दिनों में सबसे ज्यादा सामने आई हैं. पुलिस के द्वारा भी इनके संगठन पर सबसे ज्यादा दबिश भी दी गई है. जिसमें हाल के दिनों में हुई एटीएस की छापेमारी में पुलिस को कई अहम दस्तावेज मिले. यह बात भी पुलिस के सामने आई कि सुजीत सिन्हा ने  नेपाल में एक होटल की खरीद की है.

नेपाल में होटल और रियल एस्टेट में निवेश
जांच में यह बात सामने आयी है कि हजारीबाग के बड़कागांव थाना से फरार होने के बाद अमन साव ने भी नेपाल स्थित होटल को ही अपना ठिकाना बनाया था. प्रदेश के सात जिलों में एटीएस ने एक साथ अमन साव व उसके करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी की थी. छापेमारी के दौरान अपराधी गैंग के सदस्यों के यहां से कई अहम कागजात के साथ-साथ जमीन में निवेश संबंधी पेपर मिले थे. एटीएस व राज्य पुलिस की टीमों के जांच में ये बात सामने आई कि अपराधी अब अपने कुनबे को मजबूत करने को लेकर रियल एस्टेट में अपने पैसों को लगा रहे हैं. अमन साव के डोरंडा इलाके स्थित कई अपार्टमेंट में भी अपना पैसा लगाया है.

ट्रायल में तेजी के साथ ये किए जा रहे चिन्हित
संगठित अपराध के मामले पर आईजी अभियान अमोल विणुकान्त होमकर ने बताया कि संगठित अपराध पर एक विशेष टीम काम कर रही है जो इन आपराधिक संगठनों के द्वारा दहशत फैलाकर अर्जित की गई संपत्ति को आइडेंटिफाई करने के साथ उसे जप्त करने की कार्रवाई की प्रक्रिया में लगी है. इनके आपराधिक गिरोह में शामिल गुर्गों को चिन्हित कर उनपर सीसीए के तहत कार्रवाई करने का काम भी टीम के द्वारा किया जा रहा है.  वहीं, जो जेल में बंद है उनके ट्रायल में तेजी लाई जा रही है. इन संगठनों को हथियार सप्लाई करने वालों को चिन्हित किया जा रहा है.

जेल में बंद कुख्यात अपराधियों की शिफ्टिंग को लेकर भी किया जा रहा प्रयास
जेल में बंद अमन साव और सुजीत सिन्हा के जेल शिफ्टिंग की भी तैयारी है. राज्य पुलिस मुख्यालय ने इसे लेकर जेल आईजी और गृह विभाग से पत्राचार भी किया है क्योंकि हाल के दिनों में इन्होंने जेल से ही अपनी नापाक मंसूबो के जरिए हर किसी को सकते में डाल दिया था.

Tags: Jharkhand news, Jharkhand Police, Ranchi Police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर