Home /News /jharkhand /

deoghar ropeway accident jharkhand high court took cognizance asked hemant soren government to give answer bruk

Deoghar Ropeway Accident: देवघर त्रिकूट रोपवे हादसे पर झारखंड हाई कोर्ट ने लिया संज्ञान, सरकार से मांगा जवाब

Deoghar Ropeway Accident: त्रिकूट हादसे पर झारखंड हाई कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है.

Deoghar Ropeway Accident: त्रिकूट हादसे पर झारखंड हाई कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है.

Deoghar Ropeway Accident: त्रिकूट हादसे पर झारखंड हाई कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है. कोर्ट ने मामले की जांच कराने के आदेश दिए हैं. राज्य सरकार को जवाब दाखिल करने का आदेश मामले की अगली सुनवाई 26 अप्रैल को होगी.

रांची. इस वक्त देवघर त्रिकूट रोपवे हादसे हादसे से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल त्रिकूट हादसे पर झारखंड हाई कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है. कोर्ट ने मामले की जांच कराने के आदेश दिए हैं. राज्य सरकार को जवाब दाखिल करने का आदेश मामले की अगली सुनवाई 26 अप्रैल को होगी. देवघर में त्रिकूट रोपवे हादसे का मामला अब झारखंड हाई कोर्ट तक पहुंच गया है.  झारखंड उच्च न्यायालय ने इस मामले में स्वत संज्ञान ले लिया है. चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने इस मामले में राज्य सरकार को जांच कराने के आदेश दिए हैं. साथ ही कोर्ट में जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है. इस मामले की अगली सुनवाई 26 अप्रैल को होगी.
दरअसल इसके पूर्व भी जनहित से जुड़े कई मामलों में झारखंड हाईकोर्ट ने स्वत संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार को कठघरे में खड़ा किया है. कोरोना काल में रेमदेसीविर की कालाबाजारी और रांची सदर अस्पताल में इलाज को लेकर व्यवस्था पर भी हाईकोर्ट ने स्वत संज्ञान लिया था.‌ अब देवघर त्रिकूट रोपवे हादसे हादसा मामले में भी झारखंड हाईकोर्ट की कड़ी नजर है. जाहिर है कोर्ट अब इस मामले पर खुद नजर रखेगा और इसकी मॉनिटरिंग करेगा।‌ इस हादसे के बाद राज्य सरकार की व्यवस्था पर भी लगातार सवाल उठने शुरू हो गए हैं.
सवालों के घेरे में झारखंड के पर्यटन मंत्री 
वहीं इस पूरे मामले में पर्यटन विभाग सवालों के घेरे में है. पर्यटन मंत्री हाफिज उल हसन अंसारी को भी इस पूरे मामले में जवाब देते नहीं बन रहा है. ऐसे में हाईकोर्ट की ओर से जांच कराने के आदेश के बाद राज्य सरकार पर दबाव बढ़ गया है और जल्द ही इस मामले में राज्य सरकार की ओर से जांच टीम तैयार कर पूरे मामले की तह तक पहुंचने की कोशिश की जाएगी. रोपवे हादसे के रेस्क्यू में भी लाख परेशानियां आ रही है. बावजूद इसके फंसे लोगों को निकालने का काम चुनौतियों की भी जारी है. जाहिर है झारखंड हाईकोर्ट के निर्देश के बाद इसके पीछे जो लोग भी जिम्मेदार होंगे. जांच टीम उन तक पहुंचने की कोशिश करेगी और तमाम लोगों के खिलाफ आरोप गठित किया जाएगा.

45 घंटों से अधिक देर तक चला रेस्क्यू ऑपरेशन 

वहीं इससे पहले त्रिकुट पर्वत पर रेस्क्यू टीम ने लगातार पिछले 45 घंटों से भी अधिक समय तक का रेस्क्यू किया. ताजा अपडेट के अनुसार सभी लोगों को बाहर निकाल लिया गया है. इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गयी है. आज रेस्क्यू के दौरान भी रस्सी टूटने की वजह से एक महिला की मौत हो गयी. बता दें, इस रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए एयरफोर्स, इंडियन आर्मी, एनडीआरएफ, आईटीबीपी एवं स्थानीय प्रशासन की टीम ने एक साथ मोर्चा संभाल रखा था. मंगलवार सुबह अहले सुबह से सेना के जवानों ने Mi 17 हेलीकाप्टर की मदद से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू करते ही बारी-बारी से लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला.

Tags: Jharkhand High Court, Jharkhand News Live, Rope Way

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर