Assembly Banner 2021

3 मजिस्ट्रेटों की तैनाती ने बढ़ाई परेशानी, टिकट के लिए लालू से कैसे मिलेंगे RJD नेता?

कोरोना संक्रमण को देखते हुए इनदिनों लालू प्रसाद को रिम्स के वार्ड से हटाकर निदेशक के बंगले में रखा गया है. (फाइल फोटो)

कोरोना संक्रमण को देखते हुए इनदिनों लालू प्रसाद को रिम्स के वार्ड से हटाकर निदेशक के बंगले में रखा गया है. (फाइल फोटो)

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की सरगर्मी इनदिनों पटना से ज्यादा रांची में देखी जा रही है. रिम्स निदेशक के आवास के बाहर आरजेडी नेताओं (RJD Leaders) का जमावड़ा लग रहा है. ये नेता लालू प्रसाद (Lalu Prasad) से मिलकर अपना टिकट पक्का करना चाहते हैं.

  • Share this:
रांची. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद (Lalu Prasad Yadav) से मिलने के लिए रिम्स (RIMS) निदेशक के आवास के बाहर हर दिन पार्टी नेताओं की भीड़ उमड़ रही है. हालांकि इस भीड़ को मीडिया के कैमरे से सख्त ऐतराज है. बावजूद इसके कुछ निष्ठावान नेता अपनी बात मीडिया के सामने रखकर रांची पहुंचने का अलग-अलग बहाना जरूर बताते हैं.

विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की रणभेरी भले ही बिहार में बज रही हो. लेकिन उसकी गूंज रांची में जोर-शोर से सुनाई पड़ रही है. दरअसल लालू प्रसाद से मिलने की उम्मीद लेकर हर दिन बिहार से राजद नेताओं की भीड़ रिम्स निदेशक आवास के बाहर उमड़ रही है. हालांकि हर दिन राजद नेताओं की उमड़ती भीड़ को देखते हुए प्रशासन की ओर से निदेशक आवास के भीतर तीन मजिस्ट्रेट की तैनाती कर दी गई है. जिसके बाद लालू से मिलने वालों और उनकी उम्मीदों को गहरा झटका लगा है.

नेताओं के बहाने अलग, लेकिन मकसद एक 



औरंगाबाद के गोह विधानसभा क्षेत्र से पहुंचे भोलानाथ सिंह ने बताया कि वह अपने बेटे को इंजीनियरिंग की परीक्षा दिलाने के लिए रांची पहुंचे हैं. लेकिन वह अपने नेता लालू प्रसाद से मिलकर ही अब वापस औरंगाबाद लौटना चाहते हैं. वही औरंगाबाद के गुण विधानसभा से ही अपनी दावेदारी ठोकने वाले पंकज कुमार सिंह भी लालू से मिले बगैर लौटने को तैयार नहीं दिखते. नालंदा से अपना बायोडाटा लेकर रिम्स पहुंचे रामदेव कुशवाहा ने बताया कि वह अपनी भतीजी के छेका को लेकर रांची पहुंचे हैं. लेकिन उन्होंने सोचा कि जब रांची आ ही गए हैं तो क्यों ना एक पंथ दो काज कर लें. लिहाजा वे अपने नेता से मिलने निदेशक आवास के बाहर खड़े हैं.
मजे की बात यह है कि ये तमाम नेता अपना पूरा बायोडाटा लेकर रिम्स निदेशक के आवास के बाहर चक्कर लगा रहे हैं. उम्मीद और चाहत बस इतनी सी है कि एक बार लालू जी उनका राजनैतिक इतिहास वाला रिज्यूम देख लें और टिकट को लेकर हरी झंडी दिखा दें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज