Home /News /jharkhand /

हाईकोर्ट ने DGP से पूछा- अक्षम अधिकारियों को जांच में क्यों लगाते हैं?

हाईकोर्ट ने DGP से पूछा- अक्षम अधिकारियों को जांच में क्यों लगाते हैं?

हाईकोर्ट में पेश हुए डीजीपी डीके पांडेय

हाईकोर्ट में पेश हुए डीजीपी डीके पांडेय

डीजीपी ने कोर्ट को ये भी जानकारी दी कि उन्होंने जांच में सुधार लाने के लिए सभी जिलों के पुलिस कप्तान को आवश्यक निर्देश दिये हैं.

    झारखंड के डीजीपी डीके पांडेय बुधवार को हाईकोर्ट में हाजिर हुए. इस दौरान न्यायाधीश आनंद सेन की अदालत ने पुलिसिया जांच में लापरवाही पर कड़ी नाराजगी जताते हुए पुलिस को कई निर्देश दिए. कोर्ट ने डीजीपी से कहा कि उस तरह के पदाधिकारी को क्यों लगाया जाता है, जो जांच करने में अक्षम में हैं. डीजीपी ने कोर्ट को भरोसा दिलाया कि अब इस तरह की लापरवाही आगे नहीं होगी.

    डीजीपी ने कोर्ट को ये भी जानकारी दी कि उन्होंने जांच में सुधार लाने के लिए सभी जिलों के पुलिस कप्तान को आवश्यक निर्देश दिये हैं. बता दें कि हजारीबाग के एक नाबालिग के अपहरण के मामले में पीड़ित को जांच पदाधिकारी ने गवाह नहीं बनाया था. कोर्ट के सामने जब यह मामला आया, तो कोर्ट ने कड़ी नाराजगी जताते हुए डीजीपी को हाजिर होने का आदेश दिया.

    वर्ष 2013 में विकास कुमार का अपहरण हुआ था. पुलिस ने उसे सकुशल बरामद किया. उस मामले में 11 लोगों को आरोपी बनाया गया. उनमें से एक लक्ष्मण कुमार ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी. उसी याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट के सामने पुलिस की लापरवाही का मामला सामने आया.

    (नीरज नयन चौधरी की रिपोर्ट)

     

    Tags: Jharkhand news, Ranchi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर