• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • Dhanbad Judge Murder: रघुवर दास बोले- राज्य में अक्षम नेतृत्व, नहीं संभल रही कानून- व्यवस्था

Dhanbad Judge Murder: रघुवर दास बोले- राज्य में अक्षम नेतृत्व, नहीं संभल रही कानून- व्यवस्था

धनबाद जज हत्या मामले में पूर्व सीएम रघुवर दास ने हेमंत सरकार पर जमकर निशाना साधा. (फाइल फोटो)

धनबाद जज हत्या मामले में पूर्व सीएम रघुवर दास ने हेमंत सरकार पर जमकर निशाना साधा. (फाइल फोटो)

Dhanbad Judge Murder: पूर्व सीएम रघुवर दास (Raghuvar Das) ने कहा कि न्यायालय की यह टिप्पणी कि जब नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में उग्रवाद चरम पर था, तब भी न्यायपालिका को टारगेट नहीं किया गया था, राज्य की विधि व्यवस्था को बताने के लिए काफी है.

  • Share this:

रांची. धनबाद में जज की हत्या के मामले (Dhanbad Judge Murder) में पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास (Raghuvar Das) ने हेमंत सरकार (Hemant Govt) पर निशाना साधते हुए अक्षम सरकार बताया. उन्होंने कहा कि झारखंड में जब से महागठबंधन की सरकार बनी है, तब से राज्य में अपराधियों का मनोबल काफी बढ़ गया है. क्या आम क्या खास सभी का जीना मुहाल हो गया है. राज्य निर्माण के बाद से ऐसी बदहाल विधि व्यवस्था कभी नहीं रही. पहली बार न्यायपालिका को अपराधी निशाना बना रहे हैं. धनबाद में जज उत्तम आनंद के साथ जो कुछ हुआ वो गहरे संदेह पैदा करता है. सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद तो यह मामला काफी गंभीर हो गया है. इस घटना से ठीक एक दिन पहले तमाड़ में अधिवक्ता मनोज झा की हत्या कर दी गयी.

पूर्व सीएम ने कहा कि न्यायालय की यह टिप्पणी कि जब नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में उग्रवाद चरम पर था तब भी न्यायपालिका को टारगेट नहीं किया गया था. न्यायालय की यह टिप्पणी राज्य की विधि व्यवस्था को बताने के लिए काफी है. इसकी वजह है कि राज्य में एक अक्षम नेतृत्व है, जो विधि व्यवस्था संभालने में पूरी तरह विफल है.

रघुवर दास ने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से सबसे महत्वपूर्ण राजधानी रांची में अमूमन हर दिन हत्याएं हो रही हैं. जमीन माफियाओं का बोलबाला हो गया है. जब से महागठबंधन की सरकार बनी है अपराधियों व उग्रवादियों का तांडव पूरे प्रदेश में काफी बढ़ गया है. जज उत्तम आनंद, अधिवक्ता मनोज झा के साथ-साथ दारोगा रूपा तिर्की, सिदो कान्हू के वंशज रघुनाथ मुर्मू सहित कई मौतें राज्य की बदहाल विधि व्यवस्था की स्थिति बता रही है. इस सरकार के बनने के साथ ही चाईबासा में सात आदिवासियों की हत्या कर दी गयी थी. उग्रवाद रातों रात पूरे राज्य में फैल गया. राजभवन की दीवार तक पर पोस्टर चिपका दिया जाता है.

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में लोग रातों में सफर करते थे. उग्रवाद लगभग समाप्त होने की कगार पर था. हेमंत सोरेन सरकार के बनते ही नक्सलियों के भय से रात में आवागमन बंद हो गया. आज के समाचार पत्र हत्या, बलात्कार, डकैती जैसी घटनाओं से भरे रहते हैं. यह सरकार सिर्फ वसूली अभियान में लगी है, जिसका खामियाजा आम जनता को उठाना पड़ रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज