• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • धनबाद जज मौत मामला: CBI जांच की प्रगति रिपोर्ट से झारखंड हाई कोर्ट नाखुश, जोनल डायरेक्‍टर तलब

धनबाद जज मौत मामला: CBI जांच की प्रगति रिपोर्ट से झारखंड हाई कोर्ट नाखुश, जोनल डायरेक्‍टर तलब

Dhanbad Judge Death Case: झारखंड हाई कोर्ट ने सीबीआई की प्रगति रिपोर्ट पर नाराजगी जताई है. (फाइल फोटो)

Dhanbad Judge Death Case: झारखंड हाई कोर्ट ने सीबीआई की प्रगति रिपोर्ट पर नाराजगी जताई है. (फाइल फोटो)

Dhanbad Judge Uttam Anand Death Case: सीबीआई ने झारखंड हाई कोर्ट में जांच की प्रगति रिपोर्ट सौंपी. कोर्ट ने सख्‍त नाराजगी जताते हुए कहा कि ऐसा लगता है जैसे रिपोर्ट ऑफिस में बैठकर तैयार की गई है. इसके साथ ही कोर्ट ने CBI के जोनल डायरेक्‍टर को अगली सुनवाई में पेश होने को कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    रांची. धनबाद के जज उत्‍तम आनंद की मौत मामले की झारखंड हाई कोर्ट में सुनवाई हुई. CBI ने सीलबंद लिफाफे में हाई कोर्ट को अब तक की गई जांच की प्रगति रिपोर्ट सौंपी थी. इस पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने कहा कि सीबीआई की जांच रिपोर्ट में कुछ भी नया नहीं है. जस्टिस डॉ. रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण की पीठ ने नाराजगी जताते हुए स्‍टेटस रिपोर्ट पेश करने को कहा है. साथ ही जांच एजेंसी के जोनल डायरेक्‍टर को भी वर्चुअल तरीके से कोर्ट में पेश होने का निर्देश दिया गया. अब मामले की अगली सुनवाई 23 सितंबर को होगी.

    हाई कोर्ट ने सीबीआई की ओर से पेश रिपोर्ट को देखने के बाद कहा कि अभी तक कोई खास सफलता नहीं मिली है. कोर्ट ने तल्‍ख टिप्‍पणी करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि प्रगति रिपोर्ट सरकारी दफ्तर में बैठ कर तैयार की गई है. रिपोर्ट प्रोफेशनल नहीं लग रही है. खंडपीठ ने यह भी कहा कि वह सीबीआई के खिलाफ नहीं है, बल्कि जांच की वर्तमान प्रगति से नाराज हैं. कोर्ट ने कहा कि अब तक मामले में रहस्य बना हुआ है. इस बड़े षड्यंत्र में क्या था? इसमें कौन शामिल हैं? झारखंड पुलिस ने 12 घंटे में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. अभी भी जांच वहीं पर रुका हुआ प्रतीत हो रहा है. जांच रिपोर्ट देखकर ऐसा लगता है कि सीबीआई की जांच आगे नहीं बढ़ सकी है.

    धनबाद जज मौत मामला: CBI ने दर्ज की 2 और FIR, इनाम की राशि बढ़ाकर की दोगुनी

    हाई कोर्ट की की खंडपीठ ने मामले पर सुनवाई करते हुए कहा कि ऑटो रिक्शावाले ने जज उत्तम आनंद को क्यों टक्कर मारी थी, यह अभी तक सीबीआई पता नहीं लगा पाई है. कोर्ट जज की मौत के रहस्य से पर्दा उठा कर मामले को सुलझाना चाहता है. उल्लेखनीय है कि धनबाद के जज उत्तम आनंद की सड़क दुर्घटना में मौत मामले को गंभीरता से लेते हुए झारखंड हाइ कोर्ट ने उसे जनहित याचिका में तब्दील कर दिया था. सीबीआई से पहले झारखंड पुलिस की एसआईटी मामले की जांच कर रही थी. सुप्रीम कोर्ट ने जज उत्तम आनंद की मौत मामले में सुनवाई करते हुए सीबीआई को निर्देश दिया था कि जांच की स्टेटस रिपोर्ट प्रत्येक सप्ताह झारखंड हाइ कोर्ट को सौंपी जाए. हाइ कोर्ट जांच की मॉनीटरिंग कर रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज