सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट नहीं करें शेयर वरना होगी कानूनी कार्रवाई: रांची पुलिस

पुलिस ने कहा कि यदि कोई भी सोशल मीडिया के माध्यम से शहर में शांति भंग करने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो होगी.

News18 Jharkhand
Updated: July 9, 2019, 4:56 PM IST
सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट नहीं करें शेयर वरना होगी कानूनी कार्रवाई: रांची पुलिस
झारखंड पुलिस
News18 Jharkhand
Updated: July 9, 2019, 4:56 PM IST
रांची पुलिस ने लेटर जारी कर लोगों से अनुरोध किया है कि सोशल मीडिया पर किसी तरह की आपत्तिजनक तस्वीरें और भड़काऊ टिप्पणी शेयर न करें, जिससे  शहर का फिजा खराब हो. रांची पुलिस ने लेटर के माध्यम से अपील करते हुए कहा कि वाट्सअप, फेसबुक और अन्य सोशल साइट्स पर किसी भी तरह के ऐसे पोस्ट शेयर नहीं करें, जिससे सांप्रदायिक सद्भाव बिगड़े और लोगों के बीच तनाव पैदा हो.

शांति भंग करने के खिलाफ होगी कानूनी कार्रवाई

पुलिस ने कहा कि यदि कोई भी सोशल मीडिया के माध्यम से शहर में शांति भंग करने की कोशिश करेगा तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी. साथ ही जेल भी भेजा जा सकता है. लेटर में कहा गया है कि किसी भी तरह का अफवाह फैलाना और शांति भंग करना एक तरह कर अपराध है. यदि गलत सूचना फैला कर कोई शांति भंग करने की कोशिश करेगा तो उसके ऊपर कोठर कार्रवाई की जाएगी.

मॉब लिंचिंग के खिलाफ रांची में निकाली गई थी रैली  

बता दें कि झारखंड के सरायकेला में हुई मॉब लिंचिंग के खिलाफ रांची में रैली निकाली गई थी. इस दौरान रैली में शामिल कुछ उपद्रवियों द्वारा तोड़फोड़ और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया था. यही वजह है कि रांची पुलिस ने लेटर जारी कर लोगों से सोशल मीडिया पर अफवाह न फैलाने की अपील की है. बता दें कि इससे पहले राज्य पुलिस मुख्यालय ने मामले में उपद्रव करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया था, वहीं जिला पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और अन्य माध्यमों से सूचना जुटाकर कार्रवाई शुरु कर दी है.



विरोध के नाम पर राजधानी में निर्दोष लोगों की पिटाई की गई थी 

मालूम हो कि मॉब लिंचिंग के विरोध के नाम पर राजधानी में गुंडागर्दी करने और निर्दोष लोगों की पिटाई, जान से मारने की कोशिश और सरकारी एंव नीजी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने का मामला सामने आया था. मामले में राज्य पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसपी को दिशा-निर्देश जारी किया था. साथ ही रांची एसएसपी को मामले की जांच कर कार्रवाई करने को कहा था. राज्य पुलिस के वरीय अधिकारियों की माने तो सरकार इस तरह के मामले को लेकर गंभीर है. पुलिस मॉब लिंचिंग मामले पर कार्रवाई कर रही है फिर उसके विरोध में सड़क पर उतर कर हंगामा करने को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- 

एक्‍सप्रेसवे हादसा: झपकी नहीं यह है एक्सीडेंट की बड़ी वजह

हरदोई पुलिस का कारनामा: हिन्दू युवक को कब्रिस्तान में दफनाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2019, 4:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...