कोरोना का ग्रहण! झारखंड में 15 नगर निकायों के चुनाव टलने के आसार
Ranchi News in Hindi

कोरोना का ग्रहण! झारखंड में 15 नगर निकायों के चुनाव टलने के आसार
कोरोना के चलते झारखंड में 15 नगर निकायों के चुनाव टल सकते हैं.

राज्य के संयुक्त निर्वाचन आयुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने कहा कि कोरोनावायरस के कारण इवीएम के जरिए चुनाव कराना संभव नहीं है. साथ ही मतदान केन्द्रों पर होने वाली भीड़ और कॉउटिंग प्रक्रिया कैसे होगी, इसको लेकर भी आयोग चिंतित है.

  • Share this:
रांची. धनबाद, देवघर, चास नगर निगम सहित राज्य के 15 शहरी नगर निकायों के लिए होने वाले चुनाव (Municipal Elections) पर ग्रहण लगता दिख रहा है. कोरोना (Coronavirus) के कारण अप्रैल-मई में होने वाले चुनाव के टलने की संभावना बन रही है. राज्य निर्वाचन आयोग ने माझिआंव नगर पंचायत, बिश्रामपुर नगर परिषद, हरिहरगंज नगर पंचायत, बचरा नगर पंचायत, झुमरी तिलैया नगर परिषद, कोडरमा नगर पंचायत, बड़की सरैया नगर पंचायत, धनबाद नगर निगम, देवघर नगर निगम, महागामा नगर पंचायत, चास नगर निगम, गोमिया नगर परिषद, चक्रधरपुर नगर परिषद और चाईबासा नगर परिषद के निर्वाचन की सारी तैयारियां पूरी कर ली हैं. इन निकायों में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष, मेयर, डिप्टी मेयर का चुनाव दलीय आधार पर होना है.

कोरोना के चलते टल सकता है चुनाव 

कोरोना के चलते यदि इन निकायों में चुनाव टल जाता है, तो एक संवैधानिक संकट उत्पन्न हो जायेगा. ईवीएम के जरिए मतदान की सारी तैयारी हो चुकी है. लेकिन राज्य निर्वाचन आयोग कोरोना को लेकर असमंजस में है. और वैकल्पिक रास्ता निकालने में जुटी है. इन शहरी निकायों का पांच वर्ष का कार्यकाल मई के पहले सप्ताह में खत्म हो रहा है. इसको देखते हुए आयोग मतदान की तारीख मार्च के अंतिम सप्ताह में घोषित करने वाला था.



30 मार्च के बाद फैसला लेगा आयोग
राज्य के संयुक्त निर्वाचन आयुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने कहा कि कोरोनावायरस के कारण इवीएम के जरिए चुनाव कराना संभव नहीं है. साथ ही मतदान केन्द्रों पर होने वाली भीड़ और कॉउटिंग प्रक्रिया कैसे होगी, इसको लेकर भी आयोग चिंतित है. इसलिए आयोग ने 30 मार्च तक वेट एंड वाच में रहने का फैसला लिया है. यदि परिस्थितियां अनुकूल नहीं रहीं, तो विधि परामर्श लेकर चुनाव को दो महीने के लिए टाला जा सकता है.

रिपोर्ट- भुवनकिशोर झा

ये भी पढ़ें- झारखंड में 45 बड़े नक्सलियों पर सुरक्षाबलों की नजर, खात्मे के लिए बनाई ये खास रणनीति

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज