Home /News /jharkhand /

ed files charge sheet at ranchi in jharkhand coal and mining scam bramk

झारखंड कोल माइंस और मनरेगा घोटाला में चार्जशीट दाखिल करने पहुंची ED

IAS pooja singhal Suspended: आईएएस पूजा सिंघल को झारखंड सरकार ने तत्काल प्रभाव से खान और उद्योग सचिव के पद से निलंबित कर दिया है.

IAS pooja singhal Suspended: आईएएस पूजा सिंघल को झारखंड सरकार ने तत्काल प्रभाव से खान और उद्योग सचिव के पद से निलंबित कर दिया है.

Jharkhand Coal Mines MNRGA Scam: झारखंड के खूंटी जिले में मनरेगा घोटाला हुआ था. खूंटी में हुआ ये मनरेगा घोटाला 28 करोड़ के आसपास है, जिसको लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम जांच कर रही है. वर्तमान में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के खनन पट्टे में भी विवादित आईएएस पूजा सिंघल का नाम जोर-शोर से उछल रहा है. जिस पर निर्वाचन आयोग भी सक्रिय है.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड कोल माइनिंग घोटाला और मनरेगा घोटाला मामले से जुड़े केस में एक बड़ी कार्रवाई हुई है. केन्द्रीय जांच एजेंसी ED आज IAS पूजा सिंघल से जुड़े मामले में चार्जशीट दायर करेगी. रांची स्थित ED दफ्तर से ED की टीम चार्जशीट की कॉपी लेकर स्थानीय MP MLA कोर्ट पहुंची है. सूत्रों के मुताबिक करीब 5,000 पन्नों वाली चार्जशीट को लेकर ED की टीम कोर्ट पहुंची है.

ED के वरिष्ठ सूत्रों के मुताबिक निलंबित IAS पूजा सिंघल समेत चार्टेड अकाउंटेंट सुमन कुमार को इस केस में मुख्य आरोपी बनाया गया है. दायर होने वाले आरोप पत्र में कई माइनिंग विभाग से जुड़े अधिकारियों का बयान का भी है जिक्र है.

झारखंड में हुए इस घोटाले में विपक्ष काफी हमलावर था. खूंटी जिले में मनरेगा घोटाले में झारखंड की चर्चित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल पर भी आरोप लगे हैं. खूंटी में हुआ ये मनरेगा घोटाला 28 करोड़ के आसपास है, जिसको लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम जांच कर रही है. वही वर्तमान में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के खनन पट्टे में भी पूजा सिंघल का नाम जोर-शोर से उछल रहा है. जिस पर निर्वाचन आयोग भी सक्रिय है.

खूंटी जिले की डीसी रहते हुए मनरेगा से संबंधित गड़बड़ियों की शिकायत के मामले में भी झारखण्ड हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई है. जिसकी जांच प्रवर्तन निदेशालय भी कर रही है. झारखण्ड हाईकोर्ट से लगातार इस मामले में जांच की प्रगति को लेकर ईडी पर दबाव है. ई़डी से पूजा सिंघल की जांच को लेकर सवाल पूछे जा रहे हैं. यह मामला मनरेगा में 28 करोड़ के आसपास के घोटाले का है. उस वक्त पूजा सिंघल खूंटी जिले की डीसी थीं साथ ही मनरेगा की डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम कॉर्डिनेटर भी थीं. मनरेगा से संबंधित काम के लिए ऐसे जूनियर इंजीनियर को पैसे दिए गए थे जो सस्पेंडेड थे और पिछले 10 साल से एक भी पैसा उस इंजीनियर ने अपनी सैलरी का नहीं उठाया था.

Tags: ED, Jharkhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर