लाइव टीवी

Jharkhand Assembly Election 2019: 5 फेज में होगा चुनाव, 23 दिसंबर को आएंगे नतीजे

News18 Jharkhand
Updated: November 1, 2019, 6:20 PM IST
Jharkhand Assembly Election 2019: 5 फेज में होगा चुनाव, 23 दिसंबर को आएंगे नतीजे
मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर झारखंड विधानसभा चुनाव का ऐलान किया (फाइल फोटो)

वर्तमान झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) का टर्म 5 जनवरी 2020 को खत्म हो रहा है. कुल 81 सीटें हैं, जिसमें 9 एससी (SC) के लिए सुरक्षित सीटें हैं. राज्य में 2.65 करोड़ मतदाता (2.65 Crore Voter) हैं. चुनाव आयोग की टीम 17 और 18 अक्टूबर को रांची आई थी और तैयारियों का जायजा लिया था. इस दौरान राज्य के आला अधिकारियों के साथ बैठक भी की थी.

  • Share this:
रांची. झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) का ऐलान हो गया है. पांच चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे. पहले फेज के लिए 30 नवंबर को वोटिंग होगी, जबकि दूसरे चरण के लिए 7 दिसंबर, तीसरे फेज के लिए 12 दिसंबर, चौथे फेज के लिए 16 दिसंबर और पांचवें फेज के लिए 20 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. 23 दिसंबर को मतगणना होगी और चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे. विधानसभा चुनावों के ऐलान के साथ ही राज्य में आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गयी है.

पहले चरण में 13, दूसरे चरण में 20, तीसरे चरण में 17, चौथे चरण में 15 और पांचवें चरण में 16 सीटों पर मतदान होगा. जिसमें पहले चरण के लिए 6 से 13 नवंबर तक नामांकन होगा. दूसरे चरण के लिए 11 से 18 नवंबर तक, तीसरे फेज के लिए 16 से 25 नवंबर, चौथे फेज के लिए 22 से 29 नवम्बर और पांचवें चरण के लिए 26 नवम्बर से 3 दिसम्बर तक नामांकन होगा.



वर्तमान झारखंड विधानसभा का टर्म 5 जनवरी 2020 को खत्म हो रहा है. कुल 81 सीटें हैं, जिसमें 9 एससी के लिए सुरक्षित सीटें हैं. राज्य में 2.65 करोड़ मतदाता हैं. चुनाव आयोग की टीम 17 और 18 अक्टूबर को रांची आई थी और तैयारियों का जायजा लिया था. इस दौरान राज्य के आला अधिकारियों के साथ बैठक भी की थी. फोर्स की उपलब्धता और हेलीकॉप्टर पर बातचीत हुई थी. सूबे के 24 में से 19 जिले नक्सल प्रभावित हैं. 13 अतिनक्सल प्रभावित जिले हैं.
Loading...

कुल 81 सीटों पर विधानसभा चुनाव
बता दें कि झारखंड की कुल 81 सीटों पर विधानसभा चुनाव होने हैं. वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल पांच जनवरी, 2020 को खत्म हो रहा है. इससे पहले चुनाव आयोग को विधानसभा चुनाव संपन्न कराकर नई सरकार का गठन करा लेना है.



सरकार बनाने के लिए 41 विधायकों का समर्थन जरूरी
राज्य में सरकार बनाने के लिए 41 विधायकों का समर्थन जरूरी होता है. पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 37 और आजसू को पांच सीटें मिली थीं. बाद में झारखंड विकास मोर्चा (जेवीएम) के छह विधायक बीजेपी में शामिल हो गए थे. जिसके बाद बीजेपी विधायकों की संख्या बढ़कर 43 हो गई थी. पिछले चुनाव में विपक्षी दलों की बात करें तो जेएमएम को 19, जेवीएम को आठ, कांग्रेस को छह और अन्य को छह सीटों पर जीत मिली थी.

आमने-सामने
पिछली बार बीजेपी, आजसू और एलजेपी साथ मिलकर झारखंड विधानसभा चुनाव लड़े थे. जबकि विपक्ष के जेएमएम, जेवीएम, आरजेडी और कांग्रेस अलग-अलग मैदान में उतरे थे. इस बार जेएमएम, कांग्रेस और आरजेडी महागठबंधन बनाकर चुनाव में उतरने की तैयारी में हैं. तो वहीं जेवीएम ने अपने दम पर चुनाव उतरने के संकेत दिये हैं. हालांकि लोकसभा चुनाव 2019 में जेवीएम महागठबंधन में शामिल था.

चुनाव की खास बातें
बता दें कि इस बार चुनाव खर्चों पर नजर रखने के लिए हर जिले में इनकम टैक्स के अफसर भी तैनात किए गए हैं. चुनाव आयोग ने इस बार शारीरिक दिव्यांग, सीनियर सिटिजन को पोस्टल बैलट से वोट देने की सुविधा दी है. पिछली बार के मुकाबले इस बार पोलिंग स्टेशनों की संख्या में 20 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. वामपंथी चरमपंथ से प्रभावित इलाकों में सुरक्षा की समुचित व्यवस्था की गई है। राज्य के 19 जिलों की कुल 67 सीटें नक्सल प्रभावित हैं. चुनाव आयोग ने 19 जिले संवेदनशील जबकि 13 अति संवेदनशील की श्रेणी में रखे हैं.

ये भी पढ़ें: 

Chhath Puja 2019: छठ घाटों पर नाम लिखकर लोगों ने जगह की सुरक्षित

रांची में टेक्सटाइल और फुटवियर प्लांटों का शिलान्यास, 40 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 4:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...