धोनी के अचानक संन्यास लेने के फैसले से फैंस हुए निराश, साथी खिलाड़ी ने बताई मजेदार बात
Ranchi News in Hindi

धोनी के अचानक संन्यास लेने के फैसले से फैंस हुए निराश, साथी खिलाड़ी ने बताई मजेदार बात
एमएस धोनी के साथ शब्बीर हुसैन. (फाइल फोटो)

शब्बीर हुसैन (Shabbir Hussain) ने बताया कि धोनी उस मैच में 213 रन बनाए थे, जबकि मैंने 156 रन की पारी खेली थी.

  • Share this:
रांची. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) द्वार अचानक संन्यास (Retirement) लेने की घोषणा से फैंस के साथ-साथ उनको करीब से जानने वाले लोग भी अचरज में हैं. कभी धोनी के सबसे करीबी साथी रहे रणजी खिलाड़ी शब्बीर हुसैन (Shabbir Hussain) ने बताया कि हर खिलाड़ी के करियर में ऐसा दिन आता है जब उससे कहीं जाकर रुकना होता है. इसलिए आज धोनी के फैसले को सम्मान करने का दिन है. पुराने दिनों को याद करते हुए धोनी के साथ ओपनिंग बल्लेबाजी करने वाले शब्बीर ने बताया कि स्कूली क्रिकेट में उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के साथ पहले विकेट की ओपनिंग पार्टनरशिप (Opening partnership) में 376 रन नाबाद बनाए थे, जो आज भी लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज है.

उन्होंने बताया कि धोनी ने उस मैच में 213 रन बनाए थे, जबकि मैंने 156 रन बनाया था. उन्होंने बताया कि धोनी के साथ उनकी वह यादगार पारी थी. पूर्व रणजी खिलाड़ी शब्बीर ने एक मजेदार बात बताई कि वह मैच एक बदले वाला मैच था, जिसमें केंद्रीय विद्यालय हिनू को डीएवी श्यामली की टीम ने हराया था. इससे पहले एक मैच में केंद्रीय विद्यालय हिनू ने महज 78 रन पर डीएवी श्यामली को ऑल आउट कर बुरी तरह हराया था. इसके बाद धोनी ने शब्बीर के साथ प्लानिंग बनाई कि अगर फाइनल में केंद्रीय विद्यालय हिनू पहुंचता है तो उसे भी बुरी तरह हराकर पिछली हार का बदला लिया जाएगा.

केंद्रीय विद्यालय हिनू और डीएवी श्यामली दोनों फाइनल में पहुंच गए
संयोग से टूर्नामेंट में केंद्रीय विद्यालय हिनू और डीएवी श्यामली दोनों फाइनल में पहुंच गए. आमतौर पर तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले धोनी ने उस मैच में बतौर ओपनिंग बल्लेबाजी कर केंद्रीय विद्यालय हिनू को बुरी तरह से हराया. धोनी के स्कूली दिनों के कोच रहे चंचल भट्टाचार्य उनके संन्यास से बेहद निराश हैं. उन्होंने बताया कि धोनी अभी आराम से वनडे और टी20 खेल सकता थ, क्योंकि विकेट के पीछे उसकी फुर्ती और उसकी आई साइट अभी भी बेहतरीन है. वहीं, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की ट्वीट के बाद पूरी रांची में यह मांग उठने लगी है कि बीसीसीआई धोनी के लिए रांची में एक फेयरवेल मैच का आयोजन करे, जिसमें रांची वासी अपने माही को सम्मान के साथ विदाई लेते हुए देखें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज