• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • RANCHI FARMER LEADER RAKESH TIKAIT DRANK WATER HANDS JHARKHAND AGRICULTURE MINISTER BADAL PATRALEKH CGNT

झारखंड के मंत्री बादल पत्रलेख के हाथों राकेश टिकैत ने जो पानी पिया, वो कहां का था?

राकेश टिकैत से मिलने पहुंचे थे झारखंड के मंत्री.

झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख का गाजियाबाद बॉर्डर पर जाकर किसान आंदोलन (Farmer Protest) में भाग लेना और किसान नेता राकेश टिकैत को झारखंड का पानी पिलाने का मामला अचानक सुर्खियों में आ गया है.

  • Share this:
रांची. झारखंड (Jharkhand) के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख का गाजियाबाद बॉर्डर (Gaziabad Border) पर जाकर किसान आंदोलन (Farmer Protest) में भाग लेना और किसान नेता राकेश टिकैत को झारखंड का पानी पिलाने का मामला अचानक सुर्खियों में आ गया है. दरअसल गाजियाबाद बॉर्डर पर पहुंचे कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने किसान नेता राकेश टिकैत को पानी पिलाया और कहा कि वे खासकर झारखंड का पानी उनके लिए लेकर आए हैं. लेकिन वह पानी झारखंड का था या फिर दिल्ली से ही खरीदकर उस पर झारखंड की राजनीति का लेबल चिपका दिया गया ? पानी वास्तव में कहां का था, कृषि मंत्री इस बात का कोई गले उतरने वाला जवाब नहीं दे पाए.

बीते बुधवार की सुबह जब प्रदेश के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख दिल्ली से मंत्री रामेश्वर उरांव के साथ रांची पहुंचे तो न्यूज 18 ने उनसे पहला सवाल झारखंड के पानी पर ही किया. उनसे पूछा कि क्या आप झारखंड से पानी लेकर दिल्ली गए थे. इस सवाल का सीधा जवाब देने के बजाय मंत्री बादल पत्रलेख ने किसान आंदोलन का राग छेड़ दिया और सीधे केंद्र सरकार पर हमला बोल दिया.



..तो दिया ये जवाब
जब एक बार फिर उनसे सवाल पूछा कि किसान नेता राकेश टिकैत को पानी पिलाने के लिए झारखंड की किस नदी या म्यूनिसपल का पानी लेकर आप दिल्ली पहुंचे थे. इसके जवाब में कृषि मंत्री ने कहा कि वह एक सामान्य पानी था, जिसे वह झारखंड से लेकर दिल्ली पहुंचे थे. हालांकि बार-बार पूछने पर उन्होंने यह नहीं बताया कि वह पानी झारखंड के किस जिले, नदी या फिर म्यूनिसिपल का था.