लाइव टीवी

इजरायल रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री आवास पहुंचे किसान, सीएम रघुवर दास ने दी शुभकामनाएं

News18 Jharkhand
Updated: October 15, 2019, 7:29 AM IST
इजरायल रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री आवास पहुंचे किसान, सीएम रघुवर दास ने दी शुभकामनाएं
किसानों का दल मुख्यमंत्री आवास पर सीएम रघुवर दास से मिलने पहुंचा

कृषि की आधुनिक तकनीक को सीखने के लिए 24 सदस्य किसानों के दल सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पहुंचा, जहां किसानों के दल को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शुभकामनाएं दीं.

  • Share this:
रांची. कृषि की आधुनिक तकनीक को सीखने के लिए 24 सदस्य किसानों का दल सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पहुंचा, जहां किसानों के दल को मुख्यमंत्री रघुवर दास (Chief Minister Raghuvar Das) ने शुभकामनाएं दीं. इजरायल दौरा (Israel tour) पर जा रहे किसानों (farmer) के 24 सदस्य दल का नेतृत्व पाकुड़ उपायुक्त श्री कुलदीप चौधरी, डिप्टी डायरेक्टर श्री विकास कुमार और रांची जिला भूमि संरक्षण पदाधिकारी श्री अनिल कुमार कर रहे हैं. इस दौरान सीएम रघुवर दास ने कहा कि किसानों का सर्वांगीण विकास सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में से एक है. किसान बदलते जमाने के साथ साथ कृषि कार्य (agricultural operation) के नई-नई तकनीकों को अपनाएं. राज्य के किसानों को उन्नत खेती की जानकारी प्राप्त कराने के लिए राज्य सरकार किसानों के दल (Team of farmers) को इजरायल भ्रमण करा रही है. किसानों को पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) एवं मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना (Chief Minister Krishi Ashirwad Yojana) का पूरा लाभ मिल रहा है.

नई तकनीक के प्रति जिज्ञासु बने किसान

इजराइल रवाना होने से पहले 24 सदस्य किसानों के दल से सीएम रघुवर दास ने बातचीत की. इस दौरान सीएम रघुवर दास ने कहा कि इजराइल जाकर वे कृषि की नई तकनीक (modern technology of agriculture) को सीखने के प्रति जिज्ञासु बने. उन्होंने कहा कि झारखंड की तरह इजरायल  में भी समस्या सिंचाई की ही है, लेकिन इजरायल  फल और सब्जी का निर्यातक देश है. इजरायल में ड्रिप सिंचाई पद्धति (Drip irrigation system) से बड़े पैमाने पर फल और सब्जी की खेती की जाती है. हाल के समय में ही राज्य के कई किसानों को सरकार की ओर से इजरायल का दौरा कराया गया है. उन्होंने कहा कि अब जमाना आधुनिक खेती(Modern farming) का है. किसान आधुनिक तकनीक को जितना अपनाएंगे आई में उतनी ही वृद्धि होगी.

24 सदस्य किसानों के दल से सीएम रघुवर दास ने की मुलाकात
24 सदस्य किसानों के दल से सीएम रघुवर दास ने की मुलाकात


किसान और आदिवासियों के नाम पर सिर्फ राजनीति हुई

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वर्ष 2014 से पहले राज्य में आदिवासियों और किसानों के नाम पर सिर्फ राजनीति हुई है. वर्तमान सरकार ने राज्य के किसानों को समृद्ध और सशक्त बनाने के लिए पीएम किसान योजना एवं मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना का पूरा लाभ दिया है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का लक्ष्य है कि वर्ष 2022 तक देश के किसानों की आय को दोगुनी करनी है.

कोऑपरेटिव बनाकर खेती करें किसान
Loading...

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि किसान वर्ग के लोग बंजर भूमि पर कोऑपरेटिव बनाकर खेती करें. किसान कोऑपरेटिव बनाकर खेती करेंगे तो बंजर जमीन पर सोलर फार्मिंग के माध्यम से खेती की जा सकती है. बंजर जमीनों पर भी अच्छी उपज की संभावनाएं हैं. सीएम रघुवर दास ने कहा कि राज्य के किसान जल संचय पर अधिक फोकस करें. पानी को रोकने के लिए नदियों पर बराज का निर्माण कराएं. जल संचयन हेतु छोटी-छोटी योजनाओं को लागू करें. जल संचयन की छोटी-छोटी योजनाएं कृषि कार्य में बड़े फायदे पहुंचाती हैं

पूरा विश्व ऑर्गेनिक खेती अपना रहा है

इस दौरान सीएम रघुवर दास ने कहा कि इजराइल जाने वाले किसान ऑर्गेनिक खेती के जानकारी के प्रति अधिक सजग रहें. अब पूरा विश्व ऑर्गेनिक खेती की ओर जुड़ चुका है. उन्होंने कहा कि झारखंड (jharkhand) में जैविक खेती की असीम संभावनाएं हैं किसान जैविक खेती के लिए प्रेरित हो. तभी स्वस्थ खेती की परिकल्पना पूरी होगी.

बांस उद्योग से जुड़े कारीगर प्रशिक्षण के लिए जाएंगे वियतनाम

सीएम रघुवर दास ने कहा कि बांस के 10 कारीगरों के एक दल को जल्द ही प्रशिक्षण के लिए वियतनाम भेजा जाएगा. वे वियतनाम जा कर यह देख सकेंगे कि नई तकनीक के माध्यम से बांस उद्योग को किस तरह बढ़ावा मिल रहा है. उन्होंने कहा कि भारत के अलावा अन्य देशों में भी बांस आधारित उत्पाद की भारी मांग है.

किसानों ने मुख्यमंत्री से कहा सरकार ने काफी मदद की

किसानों के दल से सीएम ने कहा कि राज्य में पीएम किसान योजना एवं मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के लागू होने से किसानों को काफी राहत पहुंची है, इन दोनों योजनाओं से मिल रही राशि से किसान वर्ग के लोग ससमय बीज और खाद खरीद पा रहे हैं. खाद एवं बीज के लिए किसी के आगे हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पड़ रही है. सुदूर ग्रामीण इलाकों में किसान काफी उत्साहित हैं. इन दोनों योजनाओं का लाभ मिलने से किसानों के बीच सरकार की छवि पर भी सकारात्मक असर पड़ा है.

( रांची से उपेंद्र कुमार की रिपोर्ट )

यह भी पढ़ें- ज्वेलरी दुकान लूटने पहुंचे अपराधियों ने दो कारोबारी भाइयों को मारी गोली

यह भी पढ़ें- पब्जी के शौक ने बना दिया अपराधी, गेम की चाहत ने पहुंचाया सलाखों के पीछे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 7:29 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...