रांची में रास्ते के विवाद को लेकर दिनदहाड़े फायरिंग, गोलीबारी में 3 लोग घायल, गुस्साये लोगों ने की तोड़फोड़

रांची में रास्ते के विवाद को लेकर दिनदहाड़े फायरिंग की घटना हुई, जिसमें तीन लोग घायल हो गए.

रांची में रास्ते के विवाद को लेकर दिनदहाड़े फायरिंग की घटना हुई, जिसमें तीन लोग घायल हो गए.

रांची के डोरंडा थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े लाइसेंसी हथियार से फायरिंग की गई. इस गोलीबारी में 3 लोग बुरी तरह घायल हो गए घायलों को आनन फानन में रिम्स भेज गया. फायरिंग करने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए. घटना से नाराज लोगों ने आरोपियों की गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ की.

  • Last Updated: May 8, 2021, 7:42 PM IST
  • Share this:

रांची. राजधानी के डोरंडा थाना क्षेत्र में लॉकडाउन में दिनदहाड़े अंधाधुंध फायरिंग की घटना को कुछ लोगों ने अंजाम दिया. इस वारदात में 3 लोग बुरी तरह घायल हो गए. गोलीबारी से आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल भेजा गया है. गोलीबारी की घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर हंगामा किया और कई गाड़ियों और दुकानों में तोड़फोड़ कर दी. फायरिंग की वजह रास्ते का विवाद बताया जा रहा है. जानकारी के अनुसार सेटेलाइट चौक के पास रहने वाले विमलेश सिंह और चितरंजन के परिवारों के बीच कई महीनों से रास्ते को लेकर विवाद चल रहा था. इसे लेकर शुक्रवार को दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी.

जानकारी के मुताबिक, डोरंडा थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े लाइसेंसी हथियार से फायरिंग की गई. इस गोलीबारी में 3 लोग बुरी तरह घायल हो गए घायलों को आनन फानन में रिम्स भेज गया. फायरिंग करने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए. घटना से नाराज लोगों ने आरोपियों की गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ की और कई दुकानों के कांच तोड़ दिए. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस को भी लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा. माहौल को काबू में करने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा. पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया.

मामले की जानकारी देते हुए परिजनों ने बताया कि शुक्रवार को रास्ते को लेकर विवाद हुआ था और मामले की जानकारी पुलिस को भी दी गई थी. उसी के बाद शनिवार को एक बार फिर विवाद हुआ. इसके बाद चितरंजन और रविरंजन ने फायरिंग की वारदात को अंजाम दिया, जिसमें 3 लोग घायल हो गए. वहीं उसके बाद हुई मारपीट में 4 लोग घायल हो गए. घटनास्थल पर  पहुंची पुलिस ने सभी को अस्पताल भेजा. वहीं एक आरोपी को भी हिरासत में लिया गया है. वहीं लाइसेंसी बंदूक को भी जब्त किया गया है.

इस वजह से हुई दिनदहाड़े फायरिंग 
जानकारी के अनुसार सेटेलाइट चौक के पास रहने वाले विमलेश सिंह और चितरंजन के परिवारों के बीच कई महीनों से रास्ते को लेकर विवाद चल रहा था. मामले में अक्सर दोनों परिवारों के बीच झड़प हुआ करती थी. रास्ते के विवाद को लेकर शुक्रवार की सुबह भी दोनों पक्षों में मारपीट हुई थी, जिसके बाद मामला थाना भी पहुंचा था. लेकिन शुक्रवार की शाम रास्ता रोके जाने की वजह से दोनों पक्षों में हिंसक झड़प हो गई, दोनों ही पक्ष एक दूसरे पर पत्थरबाजी करने लगे, जिसके बाद चितरंजन के परिवार की ओर सौरभ नामक युवक ने अपनी लाइसेंसी बंदूक निकाल कर ताबड़तोड़ कई फायरिंग कर दी.

फायरिंग में विमलेश सिंह, कमलेश सिंह, हिमांशु सिंह को गोलियां लगी जिसके बाद वह जमीन पर गिर पड़े. फायरिंग की वारदात के बाद दूसरा पक्ष उग्र हो गया जिसके बाद जमकर तोड़फोड़ की गई, इसी दौरान मामले की जानकारी किसी तरह पुलिस को हुई पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन उग्र भीड़ उसके बावजूद तोड़फोड़ करती रही. जिसके बाद पुलिस की टीम ने मोर्चा संभाला और लाठीचार्ज कर उपद्रव कर रहे लोगों को खदेड़ा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज