• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • चमकी बुखार ने झारखंड में दी दस्तक, 3 साल के बच्चे की मौत

चमकी बुखार ने झारखंड में दी दस्तक, 3 साल के बच्चे की मौत

Muzaffarpur: Children showing symptoms of Acute Encephalitis Syndrome (AES) being treated at a hospital in Muzaffarpur district, Tuesday, June 18, 2019. More than 100 children have died in the district due to the disease. (PTI Photo)  (PTI6_18_2019_000176B)

Muzaffarpur: Children showing symptoms of Acute Encephalitis Syndrome (AES) being treated at a hospital in Muzaffarpur district, Tuesday, June 18, 2019. More than 100 children have died in the district due to the disease. (PTI Photo) (PTI6_18_2019_000176B)

झारखंड में चमकी बुखार से मौत का यह पहला मामला है. इससे पहले इंसेफेलाइटिस के मरीज रिम्स में भर्ती हुए थे. लेकिन डॉक्टरों ने इसे चमकी बुखार वाला इंसेफेलाइटिस नहीं बताया था.

  • Share this:
    बिहार में कहर ढाने के बाद एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी बुखार ने अब पड़ोसी झारखंड में दस्तक दी है. यहां के बालूमाथ लातेहार के करमापुलसू गांव में तीन साल के बच्चे की इससे मौत हो गई है.

    जानकारी के मुताबिक गांव के रहने वाले रंजीत कुमार सिंह के बेटे सत्यम कुमार की चमकी बुखार से शुक्रवार को रांची के रानी अस्पताल में मौत हो गई. बच्चा एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम से पीड़ित था. सुबह उसे करीब 5 बजे रानी अस्पताल में भर्ती किया गया था लेकिन 2 घंटे के अंदर उसकी मौत हो गई. अस्पताल के डॉ. राजेश ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि बच्चा एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम से पीड़ित था.

    झारखंड में चमकी बुखार से मौत का यह पहला मामला है. इससे पहले इंसेफेलाइटिस के मरीज रिम्स में भर्ती हुए थे. लेकिन डॉक्टरों ने इसे चमकी बुखार वाला इंसेफेलाइटिस नहीं बताया था.

    रात करीब 10 बजे खाना खाकर सोया था सत्यम
    मृतक बच्चे के चाचा ने बताया कि गुरुवार रात बच्चा खाना खाकर सोने गया. 15 मिनट बाद ही वो उठकर बैठ गया और चिल्लाने लगा. वो काफी घबरा रहा था. उसे 2 बार उल्टियां हुई और दस्त भी हुआ. बुखार होने के बाद परिजन बच्चे को बालूमाथ अस्पताल ले गए, लेकिन वहां कुछ खास इलाज नहीं हुआ. इसके बाद वो लोग रांची के लिए निकले. शुक्रवार सुबह लगभग 5 बजे बच्चे को रानी अस्पताल में भर्ती कराया गया. यहां उसके खून आदि का नमूना लेकर जांच के लिए भेजा गया. लेकिन करीब 2 घंटे बाद ही डॉक्टरों ने बताया कि सत्यम की मौत हो गई है.

    बता दें कि बीते लगभग एक महीने में बिहार में सबसे ज्यादा प्रभावित मुजफ्फरपुर समेत अन्य जगहों पर चमकी बुखार से अभी तक 187 बच्चों की मौत हो चुकी है.

    ये भी पढ़ें- 

    Union Budget 2019: हेमंत सोरेन बोले- महिला वित्त मंत्री ने सुनाई नानी- दादी की कहानी

    बजट से आम जनमानस को कोई लाभ नहीं होगा- कांग्रेस

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज