होम /न्यूज /झारखंड /नई दिल्ली से 1076 यात्रियों को लेकर पहली ट्रेन पहुंची रांची, घर जाने के लिए 100 की जगह 1000 चुकाये

नई दिल्ली से 1076 यात्रियों को लेकर पहली ट्रेन पहुंची रांची, घर जाने के लिए 100 की जगह 1000 चुकाये

नई दिल्ली से खुलकर स्पेशल ट्रेन गुरुवार सुबह रांची पहुंची

नई दिल्ली से खुलकर स्पेशल ट्रेन गुरुवार सुबह रांची पहुंची

कोरोना लॉकडाउन (Lockdown) में दिल्ली में फंसे यात्री ट्रेन (Train) से रांची पहुंच तो गये, लेकिन यहां से अपना शहर या जिल ...अधिक पढ़ें

    रांची. लॉकडाउन (Lockdown) के बीच नई दिल्ली-रांची रूट पर ट्रेन सेवा (Train Service) शुरू हो गई है. नई दिल्ली से खुली स्पेशल ट्रेन गुरुवार सुबह रांची स्टेशन पहुंची. इसमें कुल 1076 यात्री (Passangers) सवार थे. इन यात्रियों से रांची स्टेशन पर फार्म भराकर उनके बारे में पूरी जानकारी ली गई. फिर थर्मल स्क्रीनिंग के बाद होम क्वारंटाइन में यात्रियों को भेजा दिया गया.

    रांची से बाहर जाने वालों को चुकाना पड़ा मनमाना किराया

    कोरोना लॉकडाउन में दिल्ली में फंसे ये यात्री रांची पहुंच तो गये, लेकिन यहां पहुंचने पर भी इनकी मुश्किलें कम नहीं हुईं. रांची स्टेशन से अपने घर जाने के लिए इन्हें ट्रेवल एजेंसी वालों की मनमानी का सामना करना पड़ा. यात्रियों से जमशेदपुर के लिए 3200 से 4000 रुपये वसूले गये, तो साहेबगंज और पाकुड़ के लिए 13 से 14 हजार रुपये तक की मांग ट्रेवल एजेंसी वालों ने की. गाड़ियों की सुविधा नहीं होने के कारण यात्रियों को मजबूरी में इनकी बात माननी पड़ी.

    रांची के यात्रियों के लिए सिर्फ बस की व्यवस्था 

    दरअसल रेलवे और जिला प्रशासन ने इन यात्रियों के घर जाने के लिए कोई खास व्यवस्था नहीं की थी. रांची शहरी क्षेत्र के लिए नगर निगम की ओर बसें जरूर थीं, मगर वे भी स्टेशन पर ही खड़ी रहीं, क्योंकि रांची के यात्री अपनी निजी गाड़ी से घर निकल गये. लेकिन रांची से दूसरे शहर या जिला जाने वालों को परेशानी झेलनी पड़ी.

    ट्रेवल एजेंसियों ने दी ये सफाई 

    यात्रियों से मनमाना पैसा लेने के सवाल पर एजेंसीवालों ने बताया कि जिला प्रशासन की अनुमति से 14 रुपये प्रति किलोमीटर रेट फिक्स किया गया है. उसी आधार पर पैसे लिये गये हैं. उधर स्टेशन पर यात्रियों को सुविधा देने पहुंचे जिला प्रशासन के अधिकारी भी ट्रेवल एजेंसियों की मनमानी पर चुप्पी साध ली.

    रिपोर्ट- भुवन किशोर झा

    ये भी पढ़ें- मां ने जन्म देने के बाद मौत के हवाले किया, अब 40 लोग नई जिंदगी देने को आगे आए

    Tags: Jharkhand news, Lockdown, Ranchi news, Train

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें