झारखंड विधानसभा का सत्र 6 जनवरी से, स्टीफन मरांडी होंगे प्रोटेम स्पीकर

झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के तौर पर हेमंत सोरेन ने शपथ ली.  (फाइल फोटो)
झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के तौर पर हेमंत सोरेन ने शपथ ली. (फाइल फोटो)

नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के वरिष्ठ विधायक स्टीफन मरांडी (Stephen Marandi) को प्रोटेम स्पीकर (Pro-tem Speaker) बनाने का निर्णय लिया गया है.

  • भाषा
  • Last Updated: December 30, 2019, 12:02 AM IST
  • Share this:
रांची. नवनिर्वाचित पांचवीं झारखंड विधानसभा (Jharkhand Legislative Assembly) का प्रथम सत्र 6 से 8 जनवरी तक आयोजित होगा. 7 जनवरी को पूर्वाह्न 11.30 बजे राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) का अभिभाषण होगा. नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा (Jharkhand Mukti Morcha) के वरिष्ठ विधायक स्टीफन मरांडी (Stephen Marandi) को प्रोटेम स्पीकर (Pro-tem Speaker) बनाने का निर्णय लिया गया है.

मंत्रिमंडल की पहली बैठक में विधानसभा सत्र का हुआ फैसला
झारखंड के मंत्रिमंडल सचिव अजय कुमार सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren)  की अध्यक्षता में नई सरकार के मंत्रिमंडल की पहली बैठक में इसका निर्णय लिया गया. उन्होंने बताया कि मंत्रिमंडल ने पांचवीं झारखंड विधानसभा का तीन दिवसीय प्रथम सत्र छह से आठ जनवरी तक आयोजित करने का निर्णय लिया.

सिंह ने बताया कि मंत्रिमंडल के फैसले के अनुसार, सत्र के प्रथम दिन छह जनवरी 2020 को झारखंड विधानसभा के निर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलायी जाएगी और दूसरे दिन सात जनवरी 2020 को झारखंड विधानसभा की प्रक्रिया तथा कार्य संचालन के नियम 8 (1) के अधीन नए विधानसभा अध्यक्ष का निर्वाचन किया जाएगा. इसके बाद भारत के संविधान के अनुच्छेद 176 (1) के अधीन पूर्वाह्न 11.30 बजे विधानसभा में राज्यपाल का अभिभाषण होगा.
उन्होंने बताया कि सात जनवरी को ही वित्त वर्ष 2019-2020 की द्वितीय अनुपूरक व्यय विवरणी पेश की जाएगी. प्रथम सत्र के अंतिम दिन आठ जनवरी 2020 को राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पेश किया जाएगा और इस पर चर्चा के उपरांत सरकार का उत्तर तथा मतदान कराया जाएगा. आठ जनवरी को ही वित्त वर्ष 2019-2020 की द्वितीय अनुपूरक व्यय विवरणी पर सामान्य वाद-विवाद, मतदान और विनियोग विधेयक पेश किया जायेगा और उसी दिन इसे पारित कराया जाएगा.



हेमंत सोरेन ने ली झारखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ, दूसरी बार संभाली प्रदेश की कमान
बता दें, रांची में 29 दिसंबर को झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्‍यक्ष हेमंत सोरेन ने झारखंड के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली. उनके साथ कांग्रेस के दो विधायकों आलमगीर आलम, रामेश्वर उरांव और आरजेडी के एक विधायक सत्यानंद भोक्ता ने भी मंत्री पद की शपथ ली.

ये भी पढ़ें-

PM मोदी ने झारखंड का CM बनने दी बधाई, हेमंत सोरेन बोले-थैंक्यू प्रधानमंत्री जी

हेमंत सरकार का बड़ा फैसला, पत्थलगड़ी मामले में दर्ज सभी FIR होंगी वापस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज