लालू को बेल मिलेगी या जेल में ही रहना होगा? हाईकोर्ट में सुनवाई आज

लालू यादव चारा घोटाला में दोषी पाए जाने के बाद से जेल में सजा काट रहे हैं. (फाइल फोटो)

Chara Ghotala: डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में RJD प्रमुख ने जमानत याचिका दाखिल की है. CBI शुरुआत से ही उनकी जमानत याचिका का विरोध करती रही है.

  • Share this:
    रांची. चारा घोटाला में दोषी करार होने के बाद जेल की सजा काट रहे RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव कई महीनों से सजा काट रहे हैं. इस बीच, उन्‍होंने कोर्ट में कई बार जमानत की अर्जी दी, लेकिन उन्‍हें राहत नहीं मिली. अब उनकी एक और जमानत याचिका पर शुक्रवार 11 दिसंबर को झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई होगी. याचिका स्‍वीकार होने पर लालू यादव के जेल से बाहर आने का रास्‍ता साफ हो जाएगा. बता दें कि राजद प्रमुख को कई मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी है.

    डोरंडा कोषागार से धन निकासी का मामला
    लालू यादव पर चारा घोटाला से जुड़े कई मामले दर्ज हैं. शुक्रवार को होने वाली सुनवाई इस घोटाले का पांचवा मामला है. यह डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से जुड़ा है. ट्रेजरी से 139 करोड़ रुपये निकाल लिए गए थे. गौरतलब है कि लालू यादव को चारा घोटाला से जुड़े तीन मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी है. डोरंडा कोषागार निकासी मामले में सुनवाई के लिए 11 दिसंबर की तिथि तय की गई थी.



    तीन मामलों में जमानत
    लालू यादव को जिन चार मामलों में सजा मिली है, उसके खिलाफ उन्होंने हाईकोर्ट में अपील की है. इनमें से तीन मामले में उन्‍हें जमानत दी जा चुकी है. गौरतलब है कि लालू प्रसाद को सभी मामलों में आधी सजा काटने के आधार पर जमानत दी गई है. दुमका कोषागार मामले में भी उन्होंने इसी आधार पर जमानत मांगी है. साथ ही अपनी बीमारी का हवाला भी दिया है.

    सीबीआई का विरोध
    बता दें कि जांच एजेंसी सीबीआई शुरुआत से ही लालू यादव को जमानत देने का विरोध करती रही है. हालांकि, लालू यादव विभिन्‍न आधार पर जमानत की मांग कर रहे हैं. राजद प्रमुख का स्‍वास्‍थ्‍य ठीक नहीं रहता है. इस वजह से उनका ज्‍यादातर समय RIMS अस्‍पताल में ही डॉक्‍टरों की निगरानी में कटा है. .

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.