लाइव टीवी

पूर्व आईपीएस अधिकारी रेजी डुंगडुंग सिमडेगा सीट से लड़ेंगे चुनाव, कहा- जल्द करेंगे दल का खुलासा

News18 Jharkhand
Updated: October 17, 2019, 1:38 PM IST
पूर्व आईपीएस अधिकारी रेजी डुंगडुंग सिमडेगा सीट से लड़ेंगे चुनाव, कहा- जल्द करेंगे दल का खुलासा
रामेश्वर उरांव, अमिताभ चौधरी, डाॅ अजय कुमार, लक्ष्मण सिंह और शीतल उरांव के बाद रेजी डुंगडुंग छठे आईपीएस अधिकारी हैं, जो नौकरी छोड़कर सूबे की राजनीति में उतरे हैं.

पूर्व एडीजी रेजी डुंगडुंग (Regi Dungdung) ने कहा कि किसी भी राजनीतिक दल (Political Parties) की नीतियां गलत नहीं होती. सेवा भाव से राजनीति में आया हूं. जनता और आदिवासियों के लिए कुछ करना चाहता हूं.

  • Share this:
रांची. पुलिस सेवा (Police Service) से वीआरएस (VRS) लेकर राजनीति (Politics) की तरफ रूख करने वाले पूर्व आईपीएस अधिकारी रेजी डुंगडुंग (Regi Dungdung) सिमडेगा सीट से चुनाव लड़ेंगे. हालांकि उन्होंने दल के बारे में खुलासा नहीं किया. गुरुवार को रांची में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूर्व एडीजी ने कहा कि कई राजनीतिक दलों से बातचीत जारी है. जल्द ही पार्टी में शामिल होने का ऐलान करेंगे. किसी भी राजनीतिक दल की नीतियां गलत नहीं होती. उन्होंने कहा कि सेवा भाव से राजनीति में आया हूं. जनता और आदिवासियों के लिए कुछ करना चाहता हूं. डुंगडुंग 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी (IPS Officer) हैं. बीते 15 अक्टूबर को राज्य सरकार ने उनके वीआरएस आवेदन को स्वीकार कर लिया.

32 साल तक पुलिस सेवा में रहे

बुधवार को पुलिस मुख्यालय में एडीजी डुंगडुंग के लिए विदाई समारोह का आयोजन हुआ. वर्तमान में वह एडीजी वायरलेस के पद पर कार्यरत थे. 32 सालों की पुलिस करियर में डुंगडुंग पटना, धनबाद समेत एकीकृत बिहार के कई जिलों में पुलिस कप्तान रहे. झारखंड गठन के बाद वह गुमला और कोडरमा के एसपी रहे. इसके अलावा जैप वन कमांडेंट, डीआईजी जैप, आईजी रांची, आईजी जैप जैसे महत्वपूर्ण पदों पर भी जिम्मेदारी निभाई. एडीजी में प्रोन्नति के बाद वह विशेष शाखा और सीआईडी में भी पोस्टेड रहे.

राजनीति में आने वाले छठे आईपीएस हैं

बता दें कि रामेश्वर उरांव, अमिताभ चौधरी, डाॅ अजय कुमार, लक्ष्मण सिंह और शीतल उरांव के बाद रेजी डुंगडुंग छठे आईपीएस अधिकारी हैं, जो नौकरी छोड़कर सूबे की राजनीति में उतरे हैं. एडीजी डुंगडुंग ने 3 महीने पहले वीआरएस का आवेदन दिया था, जिसे सरकार ने स्वीकार कर लिया. डुंगडुंग ने सीआईडी एडीजी के तौर पर 8 जून 2015 को पलामू के बकोरिया पुलिस मुठभेड़ में 12 लोगों के मारे जाने के मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल खड़ा किया था. जिसके बाद उन्हें जैप एडीजी बना दिया गया था.

इनपुट- दिवाकर तिवारी व ओमप्रकाश

ये भी पढ़ें- सीएम बोले- गावों को भी मिलेगी 24 घंटे बिजली, धनबाद में 10 हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन
Loading...

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 1:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...