लाइव टीवी

मांडू सीट पर बड़े भाई से हो सकती है टक्कर, जेएमएम छोड़ बीजेपी के हुए विधायक जेपी पटेल

News18 Jharkhand
Updated: October 23, 2019, 3:53 PM IST
मांडू सीट पर बड़े भाई से हो सकती है टक्कर, जेएमएम छोड़ बीजेपी के हुए विधायक जेपी पटेल
विधायक जेपी पटेल ने कहा कि आगे विधानसभा चुनाव में बरही से लेकर बहरागोड़ा तक बीजेपी का झंडा लहराएगा.

जयप्रकाश भाई पटेल (Jay Prakash Bhai Patel) ने साल 2011 में पिता और तत्कालीन मांडू विधायक टेकलाल महतो (Teklal Mahto) के निधन के बाद सियासत में कदम रखा. उसी साल हुए विधानसभा उपचुनाव में जेएमएम (JMM) के टिकट पर विधायक बने.

  • Share this:
रांची. लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के दौरान पार्टी विरोधी तेवर अपनाने वाले जेएमएम विधायक जयप्रकाश भाई पटेल (Jay Prakash Bhai Patel) ने विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) से पहले बीजेपी (BJP) का दामन थाम लिया. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद विपक्ष दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रहा है. आगे विधानसभा चुनाव में बरही से लेकर बहरागोड़ा तक बीजेपी का झंडा लहराएगा. बीजेपी की डबल ईंजन सरकार में झारखंड आगे बढ़ रहा है. 'जेपी' में 'बी' जुड़ गया है, अब बीजेपी हो गया. उन्होंने विधानसभा चुनाव में बीजेपी के 65 पार सीट जीतने का दावा किया.

सियासी सफर

जयप्रकाश भाई पटेल ने साल 2011 में पिता और तत्कालीन मांडू विधायक टेकलाल महतो के निधन के बाद सियासत में कदम रखा. उसी साल हुए विधानसभा उपचुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के टिकट पर जेपी पटेल मांडू सीट से विधायक बने. साल 2013 में पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री बने. वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में दोबारा जेएमएम के टिकट पर मांडू से विधानसभा पहुंचे. हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव के समय पार्टी में तरजीह नहीं मिलने के कारण जेपी पटेल नाराज हो गए और पार्टी छोड़ने का फैसला कर लिया. लोकसभा चुनाव के दौरान इन्होंने बीजेपी को खुलकर समर्थन किया. जिसके चलते जेएमएम से निष्कासित कर दिये गये. तब से इनके बीजेपी में शामिल होने की चर्चा तेज थी.

मांडू सीट पर भाई से हो सकती है टक्कर 

विधायक जयप्रकाश भाई पटेल के बड़े भाई रामप्रकाश भाई पटेल इस समय जेएमएम में है. और मांडू से जेएमएम के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं.‌ जेपी पटेल के पिता स्वर्गीय टेकलाल महतो सूबे के कद्दावर नेता थे. मांडू से विधायक और गिरिडीह से सांसद रहे थे.

रिपोर्ट- दिवाकर तिवारी और राकेश कुमार

ये भी पढ़ें- मेरे लिए बीजेपी ज्वाइन करना घर वापसी जैसा- कुणाल षाडंगी
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 3:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...