लाइव टीवी

जेल से निकलने पर भावुक हुए पूर्व मंत्री बंधु तिर्की, बोले- जनता लड़ रही मेरा चुनाव

News18 Jharkhand
Updated: November 28, 2019, 11:19 AM IST
जेल से निकलने पर भावुक हुए पूर्व मंत्री बंधु तिर्की, बोले- जनता लड़ रही मेरा चुनाव
झारखंड हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद जेल से बाहर निकले पूर्व मंत्री बंधु तिर्की

पूर्व मंत्री बंधु तिर्की (Bandhu Tirki) ने कहा कि वर्तमान में आदिवासियों के लिए बीजेपी (BJP) सबसे खतरनाक पार्टी है, जो उनके हक और अधिकार को छिनने का प्रयास कर रही है.

  • Share this:
रांची. झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) से जमानत मिलने के पूर्व मंत्री बंधु तिर्की (Bandhu Tirki) बुधवार शाम बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारा से बाहर निकले. इस दौरान जेल के अंदर बिताए दिनों को याद कर वो भावुक हो गये. बंधु तिर्की पिछले 85 दिनों से जेल में बंद थे. जेल से बाहर निकलने के बाद समर्थकों ने उनका जोरदार स्वागत किया. बंधु तिर्की मांडर सीट पर जेवीएम के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं.

पूर्व मंत्री बंधु तिर्की राष्ट्रीय खेल घोटाला मामले में बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारागार में बंद थे. जेल से ही उन्होंने जेवीएम प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल किया. जेल से बाहर निकलने पर पूर्व मंत्री ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला. और कहा कि वर्तमान समय में आदिवासियों के लिए बीजेपी सबसे खतरनाक पार्टी है, जो उनके हक और अधिकार को छिनने का प्रयास कर रही है.

जेल में बिताए 85 दिनों को याद करते हुए बंधु तिर्की का गला भर आया. उन्होंने कहा कि मांडर विधानसभा क्षेत्र में उनका चुनाव जनता लड़ रही है. इसलिए उनका मुकाबला किसी से नहीं है. बंधु तिर्की झारखंड उच्च न्यायालय से जमानत मिलने के बाद बुधवार शाम करीब 5 बजकर 45 मिनट पर जेल से बाहर आए. इस दौरान होटवार स्थित जेल गेट पर उनके समर्थकों ने फूल मालाओं से उनका स्वागत किया.

बता दें कि मांडर विधानसभा सीट की चुनावी लड़ाई में बीजेपी प्रत्याशी देव कुमार धान और जेवीएम प्रत्याशी बंधु तिर्की में सीधा मुकाबला है. हालांकि यहां गठबंधन प्रत्याशी के तौर कांग्रेस के सन्नी टोप्पो भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. अब बंधु तिर्की के जेल से बाहर आने के बाद यहां का मुकाबला ज्यादा दिलचस्प होने वाला है. यहां 7 दिसंबर को मतदान होना है.

(रिपोर्ट- ओमप्रकाश)

ये भी पढ़ें- झारखंड विधानसभा चुनाव: सीपीआई के घोषणा पत्र में जल, जंगल और जमीन के लिए संघर्ष के वादे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 11:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर