• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • पूर्व नक्सली का छलका दर्द, कहा- अपने सिद्धांतों से भटक गया है नक्सलवाद

पूर्व नक्सली का छलका दर्द, कहा- अपने सिद्धांतों से भटक गया है नक्सलवाद

फाइल फोटो-

फाइल फोटो-

‘‘मैं वहां घुटन महसूस कर रहा था और नक्सलवाद अब अपने सिद्धांतों से भटक गया है.’’

  • Share this:
    दो साल पहले आत्समर्पण करने वाले वाले एक पूर्व नक्सली का कहना है कि नक्सलवाद अब अपने सिद्धांतों से भटक गया है. दो साल पहले वह वांछित नक्सली था और उसके खिलाफ कई मामले दर्ज थे. उसकी गिरफ्तारी पर 25 लाख रुपये का इनाम घोषित था.

    43 वर्षीय पूर्व नक्सली ने 12 अप्रैल, 2016 को 20 वर्षों तक स्पेशल एरिया कमांडर रहने के बाद आत्मसमर्पण किया था. उसने कहा,‘‘मैं वहां घुटन महसूस कर रहा था और नक्सलवाद अब अपने सिद्धांतों से भटक गया है.’’ जब उससे पूछा गया वह क्यों नक्सली बना और क्यों इससे बाहर आ गया? इस प्रश्न के साथ ही वह अतीत के गलियारे में चला गया.

    झारखंड में 18 हजार लोगों पर एक डॉक्टर, कैसे मिलेगा 57 लाख परिवारों को मुफ्त इलाज?

    उसने बताया, ‘‘वह 90 का दशक था. मैं कुछ माओवादी कम्यूनिस्ट सेंटर (एमसीसी) के कार्यकर्ताओं के संपर्क में आया जो मेरे कॉलेज में बैठक के लिए आते थे.’’ वह शुरुआत में चतरा पुलिस के प्रस्तावित फायरिंग रेंज के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल हो गया. ‘‘एमसीसी नेताओं ने उससे कहा कि रेंज के जमीन अधिग्रहण के लिए लोगों को विस्थापित किया जायेगा. प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने उसे पीटा......आप कह सकते हैं युवाओं में उत्साह था और हमें हथियार उठाने के लिए उकसाया गया.’’

    आयुष्मान भारत योजना में झारखंड सरकार ने इन परिवारों को अलग से जोड़ा

    आईजी (अभियान) बत्रा ने उसकी सुरक्षा को लेकर चिंता बताते हुए कहा, ‘‘ हमने उसे दो पूर्णकालिक हथियारबंद बॉडीगार्ड उपलब्ध कराये हैं.’’ पूर्व नक्सली ने कहा कि आत्मसमर्पण के वक्त उसके सिर पर 25 लाख रुपये का इनाम था. मैंने 23 महीने जेल में बिताये हैं और 9 मार्च 2018 को रिहा हुआ हूं.’’

    पुलिस जीप से महिला की मौत के बाद मुआवजा मांग रहे परिजनों पर लाठी चार्ज

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज