Home /News /jharkhand /

रांची से पुरी जाने वालों के लिए खुशखबरी! तपस्विनी एक्सप्रेस में लगा LHB कोच, जानें क्या है फायदें

रांची से पुरी जाने वालों के लिए खुशखबरी! तपस्विनी एक्सप्रेस में लगा LHB कोच, जानें क्या है फायदें

तपस्वनी एक्सप्रेस हटिया स्टेशन से खुलकर पुरी तक जाती है. (फाइल फोटो)

तपस्वनी एक्सप्रेस हटिया स्टेशन से खुलकर पुरी तक जाती है. (फाइल फोटो)

Ranchi News: रांची रेलमंडल के डीआरएम प्रदीप गुप्ता ने बताया कि एलएचबी रैक लगने से यात्रियों के लिए अब सफर पहले की तुलना में ज्यादा आरामदेह होगी. पुरी-हटिया-पुरी तपस्विनी एक्सप्रेस में पहले 20 कोच थे, लेकिन अब एलएचबी कोच समेत कुल 21 कोच होंगे.

अधिक पढ़ें ...

रांची. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पुरी- हटिया-पुरी तपस्विनी एक्सप्रेस में पारंपरिक कोच रेक से एलएचबी कोच में परिवर्तित कर उसे हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. दोनों मंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ट्रेन संख्या 18452/ 18451 को पूरी रेलवे स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. इस शुभारंभ कार्यक्रम का रांची रेल मंडल के हटिया रेलवे स्टेशन पर सीधा प्रसारण किया गया. इस मौके पर लोहरदगा सांसद सुदर्शन भगत और खिजरी विधायक राजेश कच्छप मंडल रेल प्रबंधक प्रदीप गुप्ता मौजूद रहे.

इस मौके पर डीआरएम प्रदीप गुप्ता ने एलएचबी रैक की विशेषताओं के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि यात्रियों के लिए अब सफर पहले की तुलना में ज्यादा आराम से होगी. ‌ट्रेन संख्या 18452/ 18451 पुरी हटिया पुरी तपस्विनी एक्सप्रेस के पारंपरिक कोच ट्रेन में पहले 20 कोच थे, लेकिन अब एलएचबी कोच परिवर्तित रेट में कुल 21 कोच होंगे. जिसमें जनरेटर यान का एक कोच, एसएलआरडी का एक कोच, सामान्य श्रेणी का 4 कोच, द्वितीय श्रेणी स्लीपर के 9 कोच, एसी थ्री टियर के तीन कोच, ऐसी दो के दो कोच और ऐसी फर्स्ट क्लास के 1 कोच होंगे.

एलएचबी कोच पहले की तुलना में काफी आरामदायक है. इसकी सीट, चार्जिंग प्वाइंट, पंखे और ब्रेक प्रणाली पहले की तुलना में काफी ज्यादा उच्च गुणवत्ता के हैं. साथ ही यात्रियों के लिहाज से इसमें आरक्षण के लिए 172 सीटें ज्यादा होंगी.

Tags: Dharmendra Pradhan, Indian Railway news, Puri, Ranchi news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर