Jharkhand: कोरोना की एक और लहर से चिंता में सरकार, हेल्थ सेक्रेटरी ने सभी जिलों के DC को दिए जांच बढ़ाने के निर्देश

 रांची सरकार कोरोना की दूसरी लहर की आशंका से चिंता में पड़ गई है.

रांची सरकार कोरोना की दूसरी लहर की आशंका से चिंता में पड़ गई है.

झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 82 नए संक्रमित मरीज मिले हैं. झारखंड में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या ने सरकार और स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है.

  • Share this:
रांची. झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 82 नए संक्रमित मरीज मिले हैं. देश के दूसरे हिस्सों में बढ़ रहे कोरोना के मामले और झारखंड में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या ने सरकार और स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है. स्वास्थ्य विभाग के सचिव केके सोन ने आज सभी जिलों के उपायुक्तों को पत्र लिख कर कोरोना का जांच बढ़ाने के आदेश दिए हैं. वहीं लक्ष्य से कम जांच वाले जिलों के अधिकारियों जो झाड़ लगाई है.

क्या लिखा है स्वास्थ्य सचिव ने अपने पत्र में

स्वास्थ्य सचिव ने सभी DC को लिखे पत्र में लिखा है कि देश के कई दूसरे राज्यों में कोरोना संक्रमण तेज होता दिखा है ,चूंकि दूसरे राज्यों से अपने राज्यों में आवाजाही पर कोई रोक नहीं है ऐसे में अगले कुछ सप्ताह में झारखंड में भी कोरोना संक्रमण बढ़ सकता है ऐसे में सभी जिलों के उपायुक्त covid19 टेस्ट बढ़ाए ,स्वास्थ्य सचिव ने 08 मार्च 2021 से 14 मार्च 2021 तक राज्य के सभी जिलों में निर्धारित लक्ष्य और सैम्पल जांच का डेटा भी पत्र के साथ संलग्न किया है ,जिसमे 14 ऐसे जिलों का भी जिक्र है जिन्होंने लक्ष्य से काफी कम सैम्पल की जांच की.

जांच के प्रति उदासीन होने का परिणाम है संक्रमितों की बढ़ती संख्या
16 जनवरी से राज्य में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत के साथ ही राज्य भर में कोरोना जांच के प्रति लोगों में उदासीनता आ गई. वहीं विभागीय अधिकारी अघोषित रूप से सुस्त पड़ गए हैं. 08-14 मार्च तक राज्य में हुए कोरोना जांच के आंकड़े बताते हैं कि लक्ष्य का महज 53 फीसदी ही सैम्पल टेस्ट हुआ है. राज्य के सभी जिलों को मिलाकर 01 लाख 46 हजार 510 जांच की जगह महज 77 हजार 440 ( 53%) जांच ही हुए.

साहेबगंज और पश्चिमी सिंहभूम में सबसे कम तो बोकारो में सबसे ज्यादा 91% टेस्ट 

कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में 3T यानि ट्रेसिंग, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट ने अहम रोल निभाया. लेकिन अब धीरे-धीरे हम टेस्टिंग में उदासीन होते चले गए. आंकड़े बताते हैं कि 24 जिलों में से 14 जिलों में तो covid 19 सैम्पल टेस्ट काफी कम रहा, साहेबगंज (13%), पश्चिमी सिंहभूम (13%) , सरायकेला (17%) और पाकुड़ में लक्ष्य का 29 % सैम्पल टेस्ट हुए. इसी तरह धनबाद में 33% , दुमका में 51%, गोड्डा में 24%, गुमला में 53%, हजारीबाग में 53%, जामताड़ा में 49%, खूंटी में 36%, कोडरमा में 52%, लोहरदगा में 48% और रामगढ़ में 42% ही मरीजों की covid जांच हुई.



बोकारो ने लक्ष्य का 91% जांच कर बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखा. वहीं लातेहार 83%, रांची 81%, गिरिडीह 78%, सिमडेगा लक्ष्य का 70%  जांच करने में सफल रहा. चतरा (55%), देवघर(56%), पूर्वी सिंहभूम (57%),  गढ़वा (55%), पलामू (70%) ने भी सन्तोषजनक जांच करवाई है.

कल से सभी जिलों में मास्क टेस्टिंग अभियान

स्वास्थ्य सचिव ने सभी जिलों में कोविड समुचित व्यवहार ( Covid Appropriate Behavior) के अंर्तगत कल से जागरूकता अभियान एवम मास्क चेकिंग अभियान चलाने का आदेश सभी DC को दिए हैं. साथ मे एक फॉर्मेट जारी कर मास्क चेकिंग अभियान का डिटेल से मुख्यालय को अवगत कराने का निर्देश दिए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज