होम /न्यूज /झारखंड /'चुनाव आयोग का लिफाफा ऐसा चिपका कि खुल नहीं रहा', राज्यपाल रमेश बैस के जवाब पर छूटी हंसी

'चुनाव आयोग का लिफाफा ऐसा चिपका कि खुल नहीं रहा', राज्यपाल रमेश बैस के जवाब पर छूटी हंसी

हेमंत सोरेन से जुड़े खनन मामले में चुनाव आयोग ने राज्यपाल रमेश बैस को सिफारिश भेज दी है. (फाइल फोटो)

हेमंत सोरेन से जुड़े खनन मामले में चुनाव आयोग ने राज्यपाल रमेश बैस को सिफारिश भेज दी है. (फाइल फोटो)

राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि चुनाव आयोग से आया लिफाफा ऐसा चिपका है कि खुल ही नहीं रहा है. रांची में मीडिया ने जब उनसे चु ...अधिक पढ़ें

रांची. झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि चुनाव आयोग से आया लिफाफा ऐसा चिपका है कि खुल ही नहीं रहा है. रांची में मीडिया ने जब राज्यपाल से चुनाव आयोग की सिफारिश से जुड़ा सवाल किया, तो उन्होंने मजाकिया लहजे में मीडिया को ऐसा जवाब दिया कि सबकी हंसी छूट गई.

जेएमएम सांसद महुआ माजी ने कहा कि राज्यपाल को चुनाव आयोग की सिफारिश सार्वजनिक करने में अब देर नहीं करनी चाहिए. इसको लेकर सब हैरान हैं. एक भ्रम की स्थिति बनी हुई है. जब हमलोगों ने राज्यपाल से मुलाकात की तो उस समय कहा गया कि रिपोर्ट जल्द ही सार्वजनिक किया जाएगा. उसके बाद सीएम हेमंत सोरेन ने भी उनसे मुलाकात की. उसके बाद दिल्ली भी गए. हमलोगों के बीच एक भय का माहौल बना हुआ है कि कहीं ऑपरेशन लोटस को अंजाम नहीं दिया जा रहा. कांग्रेस के तीन विधायक कैश प्रकरण में फंसे हैं. राज्यपाल को चाहिए कि इस मामले पर जल्द से जल्द संज्ञान लें.

बता दें कि सीएम हेमंत सोरेन से जुड़े खनन मामले में चुनाव आयोग ने अपनी सिफारिश राज्यपाल रमेश बैस को भेज दी है. सूत्रों के मुताबिक इस सिफारिश में सीएम हेमंत सोरेन के विधायकी रद्द करने की बात कही गई है. हालांकि राजभवन से चुनाव आयोग की रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं किये जाने के कारण सूबे में सियासी ऊहापोह की स्थिति पिछले एक महीने से बनी हुई है. सीएम हेमंत सोरेन से लेकर सत्तापक्ष के प्रतिनिधिमंडल तक इस मुद्दे पर राज्यपाल से मिलकर रिपोर्ट सार्वजनिक करने का आग्रह कर चुके हैं.

Tags: CM Hemant Soren, Jharkhand news, Ramesh Bais

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें