Home /News /jharkhand /

Cyber Crime: फर्जी चेक के जरिए सरकारी खजाने से उड़ाए 22 करोड़ रुपए

Cyber Crime: फर्जी चेक के जरिए सरकारी खजाने से उड़ाए 22 करोड़ रुपए

Cyber Crime in Jharkhand: साइबर अपराधियों ने फर्जी चेक के जरिये सरकारी खजाने से 22 करोड़ रुपये से ज्‍यादा की निकासी कर ली. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Cyber Crime in Jharkhand: साइबर अपराधियों ने फर्जी चेक के जरिये सरकारी खजाने से 22 करोड़ रुपये से ज्‍यादा की निकासी कर ली. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Cyber Crime: साइबर अपराधियों ने फर्जी चेक के जरिए सरकारी विभाग को 22 करोड़ रुपए से ज्‍यादा का चूना लगाया है. इनमें से 9 करोड़ की रिकवरी करने में सफलता मिली है. साइबर अपराधियों ने भू-अर्जन और समाज कल्‍याण विभाग को निशाना बनाया.

    रांची. साइबर अपराधियों के निशाने पर अब सरकारी विभाग भी आ गए हैं. साइबर क्रिमिनल्‍स ने फर्जी चेक के जरिए सरकारी खजाने से 22 करोड़ रुपए से ज्‍यादा की रकम निकाल ली. छानबीन के दौरान पता चला कि सरायकेला, पलामू और गुमला के स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया में सरकारी खातों से साइबर अपराधियों ने यह रकम निकाली. इनमें से 12.60 करोड़ भू-अर्जन विभाग और बाकी की रकम कल्‍याण विभाग के खातों से निकाली गई . मामले का खुलासा होने के बाद कल्‍याण विभाग 9 करोड़ रुपए की रिकवरी करने में सफल रहा. बताया जाता है कि सरकारी खजाने से इतनी बड़ी रकम निकालने वाला व्यक्ति गुजरात निवासी है.

    सरकारी खजाने से करोड़ों रुपए उड़ाने वाले साइबर अपराधी की पहचान अमित चंदूलाल पटेल के तौर पर की गई है. ‘प्रभात खबर’ के अनुसार, गुमला में हुए शौचालय घोटाले की जांच के दौरान साइबर अपराधियों द्वारा भू-अर्जन कार्यालय और समेकित जनजाति विकास अभिकरण (ITDA) के खातों से फर्जी चेक के सहारे पैसे की निकासी की बात सामने आई. जांच में पाया गया कि ITDA के स्टेट बैंक स्थित अकाउंट से निकासी के लिए चेक का इस्तेमाल हुआ, जबकि यह चेक ITDA के पास था. साइबर अपराधियों ने सक्षम पदाधिकारी का फर्जी हस्ताक्षर कर 9,05,16,700 रुपए का चेक बैंक में जमा किया था. इसकी पुख्‍ता जांच किए बगैर यह चेक कैश कर दिया गया.

    झारखंड में बिछेगी नई रेल लाइन, प्रभावित होने वाले गांव चिह्नित

    आरोप है कि बैंक की ओर से जारी मूल चेक और अपराधियों द्वारा पेश चेक में अंतर के बावजूद इसे पास कर दिया गया. इस रकम को ओडिशा स्थित एक्सिस बैंक के खाते में ट्रांसफर किया गया. ओडिशा के एक्सिस बैंक स्थित यह खाता गुजरात निवासी पटेल अमित चंदूलाल का बताया गया है. एक्सिस बैंक से यह रकम दूसरे खाते में ट्रांसफर न होने पर बैंक अफसरों पर प्रशासनिक दवाब की वजह से इसमें से 9.03 करोड़ रुपये वापस आईटीडीए के खाते में लाया जा सका. लेकिन भू-अर्जन विभाग के खाते से उड़ाई गई रकम की रिकवरी अभी तक नहीं हो सकी है.

    Tags: Cyber Crime News, Gumla news, Jharkhand news, SARAIKELA NEWS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर