लाइव टीवी

नवनियुक्त एमवीआई ने दिया इस्तीफा, कहा- वायुसेना के 29 सालों में कभी नहीं मिला ऐसा अपमान

News18 Jharkhand
Updated: October 16, 2019, 6:10 PM IST
नवनियुक्त एमवीआई ने दिया इस्तीफा, कहा- वायुसेना के 29 सालों में कभी नहीं मिला ऐसा अपमान
रामकृष्ण तिवारी 31 मई 2019 से गुमला में एमवीआई के पद पर तैनात थे. लेकिन उन्हें अबतक वेतन नहीं मिला.

न्यूज-18 से खास बातचीत में रामकृष्ण तिवारी (Ramkrishna Tiwari) ने बताया कि 14 अक्टूबर को रांची स्थित प्रोजेक्ट भवन में परिवहन विभाग (Transport Department) की समीक्षा बैठक थी. उसी बैठक में परिवहन आयुक्त (Transport Commissioner) ने उन्हें अपमानित किया. जिसके बाद मीटिंग में हुई सारी बातों का जिक्र करते हुए उन्होंने अपना इस्तीफा (Resign) परिवहन सचिव को भेज दिया.

  • Share this:
रांची. गुमला के नवनियुक्त एमवीआई रामकृष्ण तिवारी (MVI Ramkrishna Tiwari) ने परिवहन आयुक्त (Transport Commissioner) पर गंभीर आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा (Resignation) दे दिया. परिवहन सचिव (Transport Secretary) को भेज अपने इस्तीफा पत्र में उन्होंने परिवहन आयुक्त पर भरी मीटिंग में अपमानित करने और गैरवाजिब शब्द का इस्तेमाल करने का आरोप (Allegations of Humiliation) लगाया. बतौर तिवारी यह सिर्फ उनका ही नहीं, बल्कि एमवीआई के रूप में योगदान देने वाले सभी पूर्व सैनिकों का अपमान है.

न्यूज-18 से खास बातचीत में रामकृष्ण तिवारी ने बताया कि 14 अक्टूबर को रांची स्थित प्रोजेक्ट भवन में परिवहन विभाग की समीक्षा बैठक थी. उसी बैठक में परिवहन आयुक्त ने उन्हें अपमानित किया. जिसके बाद मीटिंग में हुई सारी बातों का जिक्र करते हुए उन्होंने अपना इस्तीफा परिवहन सचिव को भेज दिया.

परिवहन आयुक्त पर अपमानित करने का आरोप 

जानकारी के मुताबिक बैठक में परिवहन आयुक्त फैज ए अहमद मुमताज ने रामकृष्ण तिवारी पर एक शिकायत के मामले में चार्ज फ्रेम किया. और कारण बताओ नोटिस जारी किया. बतौर तिवारी इस दौरान परिवहन आयुक्त ने उनके खिलाफ जिला परिवहन पदाधिकारियों के सामने ऐसे शब्दों को प्रयोग किया, जो गैरवाजिब थे. भारतीय वायुसेना की 29 साल की नौकरी में इस तरह का तिरस्कार कभी नहीं मिला. एक सैनिक के रूप में ईमानदारी से देश की सेवा की. उसी निष्ठा से एमवीआई के रूप में काम कर रहा था. लेकिन मेरी ईमानदारी पर सवाल उठाये गये. ऐसे में मेरे लिए काम करना मुश्किल हो गया. इसलिए मैंने इस्तीफा दे दिया.

रामकृष्ण तिवारी 31 मई 2019 से गुमला में एमवीआई के पद पर तैनात थे. लेकिन उन्हें अबतक वेतन नहीं मिला. परिवहन आयुक्त ने तिवारी के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उन्हें शिकायत के सिलसिले में सिर्फ हिदायत दी गई थी. कोई अपशब्द का प्रयोग नहीं किया गया था.

इनपुट- उपेन्द्र कुमार

ये भी पढ़ें- रुपया कलेक्शन कर लौट रहे बंधन बैंककर्मी को अपराधियों ने मारी गोली
Loading...

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 6:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...