खुशखबरी! हटिया डैम से अब नहीं होगी पानी की राशनिंग, सातों दिन मिलेगा पानी

हटिया डैम से होने वाली जलापूर्ति के राशनिंग फ्री होने से राजधानी के बड़े क्षेत्र के लोगों की परेशानी कम होगी. रांची के हटिया, हिनू, बिरसा चौक, हवाई नगर, पुंदाग, डिबडीह सहित कई इलाके में अब हर दिन जलापूर्ति होगी.
हटिया डैम से होने वाली जलापूर्ति के राशनिंग फ्री होने से राजधानी के बड़े क्षेत्र के लोगों की परेशानी कम होगी. रांची के हटिया, हिनू, बिरसा चौक, हवाई नगर, पुंदाग, डिबडीह सहित कई इलाके में अब हर दिन जलापूर्ति होगी.

हटिया डैम से होने वाली जलापूर्ति के राशनिंग फ्री होने से राजधानी के बड़े क्षेत्र के लोगों की परेशानी कम होगी. रांची के हटिया, हिनू, बिरसा चौक, हवाई नगर, पुंदाग, डिबडीह सहित कई इलाके में अब हर दिन जलापूर्ति होगी.

  • Share this:
रांची. राजधानी रांची (Ranchi) क्षेत्र में जलापूर्ति का मुख्य स्रोत 3 जलाशयों पर निर्भर है. हटिया डैम, रुक्का डैम और कांके डैम से पेयजल आपूर्ति की जाती है, लेकिन हटिया डैम (Hatia Dam) में कम पानी के चलते अप्रैल महीने से ही  पानी की राशनिग की जा रही थी. अब अगले गुरुवार से पानी की राशनिंग नही होगी क्योंकि डैम भले ही न भरा हो पर जुलाई 2021 तक के लिए पर्याप्त पानी डैम में जमा हो गया है.

38 फीट पानी की क्षमता वाले हटिया डैम में 29 फीट के करीब पानी

21 सितंबर तक हटिया डैम में जल स्तर 28.3 फीट हो जाने के बाद पेयजल एवम स्वच्छता विभाग और रांची नगर निगम ने बैठक कर फैसला लिया कि भले ही हटिया डैम अभी भी पूरी तरह ने नहीं भरा है फिर भी जितना जलस्तर है वह अगले साल जुलाई महीने तक कि जलापूर्ति के लिए पर्याप्त है. इसलिए अब अप्रैल से जारी सप्ताह में दो दिन सोमवार और गुरुवार की राशनिंग नही होगी और अब सातों दिन इस डैम क्षेत्र वाले एरिया में जलापूर्ति होगी.



किस किस इलाके के लोगों को मिलेगी राहत
हटिया डैम से होने वाली जलापूर्ति के राशनिंग फ्री होने से राजधानी के बड़े क्षेत्र के लोगों की परेशानी कम होगी. रांची के हटिया, हिनू, बिरसा चौक, हवाई नगर, पुंदाग, डिबडीह सहित कई इलाके में अब हर दिन जलापूर्ति होगी. हटिया डैम के अधीक्षण अभियंता सुरेश प्रसाद कहते हैं कि आपात स्थिति में 16 अप्रैल 2020 से हटिया डैम से होने वाले जलापूर्ति की राशनिंग करनी पड़ी थी. क्योंकि डैम में पानी ही इतना नहीं बचा था कि हर दिन पानी उपभोक्ताओं के घर तक पहुंचाया जा सके, अब जबकि मानसून की बारिश से 29 फीट से ज्यादा पानी डैम में है, इसलिए राशनिग बंद करने का फैसला लिया गया है. सुरेश प्रसाद के अनुसार डैम में जुलाई 2020 तक के लिए पानी संचय हो गया है और यह अगले साल मानसून के आगमन तक के लिए पर्याप्त है. जबकि अभी भी मानसून की बारिश राज्य में होने की संभावना बनी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज