स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता का ऐलान- रांची समेत इन 7 जिलों में जल्द खुलेंगे नर्सिंग स्कूल

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने सदन में 7 जिलों में नर्सिंग स्कूल खोलने का ऐलान किया.  (फाइल फोटो)

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने सदन में 7 जिलों में नर्सिंग स्कूल खोलने का ऐलान किया. (फाइल फोटो)

Jharkhand Assembly: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने सदन में पहले चरण में रांची, गोड्डा, गुमला, सरायकेला-खरसावां, साहिबगंज और चाईबासा जिले में नर्सिंग स्कूल खोले की घोषणा की. गोड्डा में अक्टूबर माह तक नर्सिंग स्कूल का शिलान्यास हो जाएगा.

  • Share this:

रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) में शुक्रवार को बंद अस्पताल, स्वास्थ्यकर्मियों की कमी, नर्सिंग स्कूल और ट्रॉमा सेंटर का मुद्दा छाया रहा. दरअसल प्रश्नकाल के दौरान स्वास्थ्य विभाग में कमियों का मुद्दा छाया रहा. अस्पताल के नाम पर भवन का निर्माण, भवन बनने के बाद से अब तक स्वास्थ्य कर्मियों की कमी पर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता (Banna Gupta) लगातार सदन के अंदर विधायकों के सवाल पर घिरते नजर आए.

नर्सिंग स्कूल खोले जाने के मुद्दे पर प्रदीप यादव ने भी विभाग की मंशा पर सवाल उठाया. स्वास्थ्य मंत्री ने पहले चरण में रांची, गोड्डा, गुमला, सरायकेला-खरसावां, साहिबगंज और चाईबासा में नर्सिंग स्कूल खोले जाने की बात कही. वही गोड्डा में अक्टूबर माह में शिलान्यास की बात मंत्री ने सदन में कही.

मांडर विधायक बंधु तिर्की ने हाईकोर्ट में सरकारी वकील का मुद्दा अल्प सूचित प्रश्न के तहत सदन में उठाया. बंधु तिर्की ने पूर्व मुख्य सचिव अशोक कुमार सिंह और IAS सुनील कुमार बर्णवाल की पत्नी रिचा संचिता के तजुर्बे पर सवाल उठाया. विधायक बंधु तिर्की ने कहा कि 7 वर्षों का तजुर्बा नहीं होने के बावजूद आशोक कुमार सिंह को 16 विभागों का और संचिता को दो विभागों की जिम्मेवारी दी गई है. संसदीय कार्यमंत्री ने इस मुद्दे पर जांच का आश्वासन दिलाया.

हजारीबाग में बिहार पुरातत्व विभाग द्वारा खुदाई में बुद्ध बिहार का मुद्दा मनीष जायसवाल ने उठाया. इस पर विधायक ने झारखंड सरकार को हस्तक्षेप करने की मांग की. सदन में इस मामले में मंत्री बादल पत्रलेख ने घोषणा करते हुये कहा कि खुदाई के दौरान पाई जाने वाली कोई भी मूर्ति को बिहार ले जाने नहीं दिया जाएगा. इसको लेकर राज्य के मुख्य सचिव को निर्देश भी दिया गया है.
सदन में विधायकों के द्वारा मास्क नहीं पहनने का मुद्दा भी बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने सदन में उठाया. उनका कहना था कि जब आम लोगों से जुर्माना वसूला जा रहा है, तब विधायकों से भी दंड वसूला जाना चाहिये. वही राज्य दिव्यांग बोर्ड की बैठक भी हर माह करने पर सदन के अंदर सहमति बनी और ऐसा नहीं होने पर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज