लाइव टीवी

रिम्स में लालू यादव से मिले स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, बोले- मैं किसी भी विभाग में जा सकता हूं
Ranchi News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: February 6, 2020, 5:04 PM IST
रिम्स में लालू यादव से मिले स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, बोले- मैं किसी भी विभाग में जा सकता हूं
लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

स्वास्थ्य मंत्री के इस तरह से लालू प्रसाद से जाकर मिलने को लेकर जब न्यूज-18 ने जेल प्रशासन से सवाल पूछा, तो प्रशासन कहना था कि यह नियम संगत है. स्वास्थ्य मंत्री रिम्स में कभी भी किसी मरीज से मुलाकात कर सकते हैं.

  • Share this:
रांची. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता (Banna Gupta) ने गुरुवार को रिम्स (RIMS) का जायजा लिया. इस दौरान वे ट्रॉमा सेंटर होते हुए पेइंग वार्ड पहुंचे और आरेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद (Lalu Yadav) से मुलाकात की. हालांकि बाद में इस मुलाकात पर सफाई देते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि रिम्स आने का मेरा मकसद लालू प्रसाद से मिलना नहीं था. मैं यहां विभागों का औचक निरीक्षण करने पहुंचा था. इसी क्रम में लालू यादव का हालचाल लिया. ये मेरे अधिकारक्षेत्र में है कि मैं किसी विभाग का औचक निरीक्षण कर सकता हूं.

'स्वास्थ्य मंत्री की मुलाकात नियम संगत'

रिम्स में लालू प्रसाद से मुलाकात के लिए बिरसा मुंडा जेल प्रशासन ने शनिवार का दिन तय कर रखा है. अन्य दिन में मुलाकात के लिए जेल प्रशासन से स्पेशल परमिशन लेनी होती है. स्वास्थ्य मंत्री के इस तरह से लालू प्रसाद से जाकर मिलने को लेकर जब न्यूज-18 ने जेल प्रशासन से सवाल पूछा, तो प्रशासन का कहना था कि यह नियम संगत है. स्वास्थ्य मंत्री रिम्स में कभी भी किसी मरीज से मुलाकात कर सकते हैं.

स्वास्थ्य मंत्री बनने के बाद पहली बार रिम्स पहुंचे बन्ना गुप्ता का निदेशक डॉ डीके सिंह ने स्वागत किया. जिसके बाद मंत्री ने अस्पताल के अधिकारियों के साथ बैठक कर जरूरी सुझाव दिये. बैठक में स्वास्थ्य मंत्री को कुर्सी पसंद नहीं आयी, तो उन्होंने अपने लिए दूसरी कुर्सी मंगवाई. बैठक के बाद बड़कागांव की कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद ने रिम्स में स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात की.

भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करेगी सरकार

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार किसी तरह के भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करेगी. लेकिन हर अधिकारी को भ्रष्टाचारी के रूप में देखना ठीक नहीं. उन्होंने कहा कि राज्य की कोष स्थिति ठीक नहीं है. इसको देखते हुए हर फैसला लिया जाएगा. पिछली सरकार पर वार करते हुए उन्होंने कहा कि अटल क्लिनिक की बिल्डिंग मात्र बना देने से काम नहीं होता. राज्य में डॉक्टरों की संख्या पर भी ध्यान देना होगा.

इनपुट- प्रेरणा कुमारी, भुवन किशोरये भी पढ़ें- नये साल में नक्सलियों की कमर तोड़ने में जुटी झारखंड पुलिस, जनवरी में 39 गिरफ्तारी 4 सरेंडर

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 4:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर