Home /News /jharkhand /

HEC Tool Down: 1300 कर्मचारी हड़ताल पर, बोले- बच्‍चों की फीस के लिए स्‍कूल से आ रहे रिमाइंडर

HEC Tool Down: 1300 कर्मचारी हड़ताल पर, बोले- बच्‍चों की फीस के लिए स्‍कूल से आ रहे रिमाइंडर

HEC Deadlock: एचईसी में टूल डाउन की समस्‍या का समाधान अभी तक नहीं निकल सका है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

HEC Deadlock: एचईसी में टूल डाउन की समस्‍या का समाधान अभी तक नहीं निकल सका है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Ranchi HEC Strike Continue: भारी उद्योग मंत्रालय के निर्देश पर सीएमडी नलिन सिंघल रांची पहुंचे थे. उन्‍होंने कर्मचारी प्रतिनिधिमंडल से बातचीत की लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला. वेतन भुगतान के मसले पर सहमति नहीं बन सकी. इसके बाद CMD वापस दिल्‍ली लौट गए. वहीं, एचईसी के 1300 स्‍थाई कर्मचारी टूल डाउन पर हैं.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड की राजधानी रांची स्थित हैवी इंजीनियरिंग कॉरपोरेशन (HEC) में वेतन भुगतान को जारी गतिरोध समाप्‍त होने का नाम नहीं ले रहा है. मुख्‍य प्रबंध निदेशक (CMD) नलिन सिंघल और कर्मचारी संगठन के बीच वार्ता का कोई नतीजा नहीं निकल सका. एचईसी में कार्यरत तकरीबन 1300 कर्मचारी टूल डाउन (Tool Down) पर हैं. मतलब यह कि कर्मचारी ऑफिस आ रहे हैं, लेकिन काम नहीं कर रहे हैं. ऐसे में प्‍लांट में कामकाज पूरी तरह से ठप है. कर्मचारियों का कहना है कि उन्‍हें 7 महीने से वेतन नहीं दिया गया है. हालत यह है कि बच्‍चों की फीस के लिए स्‍कूल की ओर से लगातार रिमाइंडर आ रहे हैं. कर्मचारियों का कहना है कि एचईसी प्रबंधन को उनकी तकलीफ का अंदाजा नहीं है.

गतिरोध को समाप्‍त करने के लिए भारी उद्योग मंत्री के निर्देश पर गुरुवार को एचईसी के सीएमडी नलिन सिंघल आनन-फानन में रांची पहुंचे थे. सीएमडी ने गुरुवार को श्रमिक संगठनों के 8 अलग-अलग प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत की. कंपनी के निदेशक मंडल के साथ भी बातचीत हुई. इसके बाद कर्मचारियों को 1 महीने के वेतन भुगतान को दो हिस्सों में देने का ऑफर दिया गया. कर्मचारियों ने इस प्रस्‍ताव को ठुकरा दिया. इसके बाद सीएमडी वापस दिल्ली चले गए.

SDO पर लगा बाइक सवार युवकों की बेरहमी से प‍िटाई का आरोप, एक का टूटा हाथ, सभी अस्‍पताल में भर्ती

 कर्मचारियों में जगी थी उम्‍मीद
सीएमडी के रांची पहुंचने की खबर से कर्मचारियों में उत्साह और उम्मीद का माहौल था, लेकिन वार्ता बेनतीजा होने के बाद कर्मचारियों का गुस्सा फूट पड़ा. न्यूज 18 से बातचीत में कर्मचारी अलीम ने साफ कहा कि जब तक पूरे 7 महीने के बकाए और कैंटीन भत्ते समेत दूसरी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है, तब तक एचईसी में टूल डाउन रहेगा. उन्होंने बताया कि प्रबंधन का रवैया कहीं से भी कर्मचारियों के दर्द को समझने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि 7 महीने से वेतन नहीं मिलने के कारण रोजी-रोटी पर आफत आ गई है. साथ ही बच्चों की स्कूल फीस को लेकर भी बार-बार स्कूल से रिमाइंडर आ रहा है.

सीएमडी पर फूटा गुस्‍सा
एचईसी में लंबे समय से काम कर रहे टेक्निकल स्टाफ प्रमोद कुमार फैक्ट्री एक्ट का मुद्दा उठाते हुए बकाया वेतन के साथ कैंटीन भत्ते की बात पर प्रबंधन को कोसते नजर आते हैं. उन्होंने बताया कि प्रबंधन का रवैया एचईसी को भविष्य़ का रास्ता दिखाने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि सीएमडी समस्या के समाधान के लिए रांची पहुंचे थे या किसी दूसरे काम के लिए यह पता नहीं.

स्‍थाई सीएमडी की मांग
कर्मचारी रामसुंदर सीधे स्थायी सीएमडी की मांग को पुरजोर तरीके से उठाते हैं. उन्होंने साफ कहा कि जब तक एचईसी को स्थायी सीएमडी नहीं मिलेगा तब तक समस्या का समाधान निकलने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि प्रभार में रहने वाले सीएमडी एचईसी का दर्द नहीं समझ सकते.

Tags: Ranchi news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर