vidhan sabha election 2017

लाचार मां ने मुख्यमंत्री से गायब बच्चे को ढूंढ़ने की लगाई गुहार

Manoj Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 7, 2017, 3:36 PM IST
लाचार मां ने मुख्यमंत्री से गायब बच्चे को ढूंढ़ने की लगाई गुहार
गायब बच्चे को पाने के लिए साल भर से दर-ब-दर की ठोकरें खा रही एक मां
Manoj Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 7, 2017, 3:36 PM IST
ईंट भट्टा पर काम कर अपने बच्चों की परवरिश करने वाली एक लाचार मां अपने बच्चे को छुड़ाने के लिए पिछले एक साल से दर-ब-दर की ठोकरें खा रही है. सब जगह से थकहार कर महिला मंगलवार को रांची के शहीद अल्बर्ट एक्का चौक पर धरने पर बैठ गई और मुख्यमंत्री से बच्चा दिलाने की गुहार लगाने लगी. उसके बच्चे को ढूंढ़ने का भरोसा दिलाकर पुलिस ने आज गुरुवार को उसका धरना खत्म करा दिया.

अल्बर्ट एक्का चौक पर गोद में छोटे से बच्चे को लेकर धरने पर बैठी महिला का नाम मरियम है. महिला के अनुसार जब वह हावड़ा से मधुपुर आई थी तब उसके चार साल के बच्चे करन को जमशेद नामक एक दलाल ने गायब कर दिया. मरियम ने मधुपुर थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई. मगर एक साल बाद पुलिस उसके बच्चे को नहीं ढूंढ़ पाई और न ही दलाल जमशेद को गिरफ्तार कर सकी.

बेटे को तलाशने की मांग को लेकर अल्बर्ट एक्का चौक पर धरने पर महिला के बैठे होने की सूचना मिलने पर कोतवाली इंस्पेक्टर न सिर्फ मौके पर पहुंच पूरे मामले को समझा और महिला से धरना खत्म करवाया बल्कि एंटी ह्युमन ट्रैफिकिंग थाने में विधिवत इसकी शिकायत भी दर्ज कराई. कोतवाली इंस्पेक्टर की माने तो मधुपुर पुलिस से भी इस मामले को लेकर जानकारी मांगी जा रही है.

मालूम हो कि झारखंड में लापता बच्चों को तलाश के लिए जहां सीआईडी द्वारा विशेष अभियान ऑपरेशन मुस्कान चलाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर मानव और बच्चों की तस्करी से जुड़े मामले के लिए हर जिले में विशेष यूनिट भी बनाया गया है. ऐसे में अगर इस लाचार मां को बच्चे की तलाश में एक साल से भटकना पड़ रहा है तो यह पुलिसिया व्यवस्था पर एक बड़ा सवाल खड़ा करती है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर