लाइव टीवी

मकर संक्रांति के बाद होगा हेमंत मंत्रिमंडल का विस्तार, जेएमएम से इन्हें मिल सकता है मौका

News18 Jharkhand
Updated: January 13, 2020, 3:57 PM IST
मकर संक्रांति के बाद होगा हेमंत मंत्रिमंडल का विस्तार, जेएमएम से इन्हें मिल सकता है मौका
झारखंड में 14 जनवरी के बाद हेमंत कैबिनेट का विस्तार हो सकता है. (फाइल फोटो)

जेएमएम (JMM) ने अपने कोटे से एक महिला को भी मंत्री बनाने के संकेत दिये हैं. साथ ही स्टीफन मरांडी, मथुरा महतो, चंपई सोरेन, जोबा मांझी, बैद्यनाथ राम, मिथिलेश ठाकुर, दीपक बिरुआ और हाजी हुसैन अंसारी के नाम पर विचार चल रहा है.

  • Share this:
रांची. झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार (Hemant Soren Government) का जल्द विस्तार (Expansion) हो सकता है. सीएम हेमंत सोरेन इस सिलसिले में कांग्रेस के नेताओं के साथ बातचीत के लिए दिल्ली दौरे पर हैं. जानकारी के मुताबिक 14 जनवरी यानी मकर संक्रांति के बाद हेमंत मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है. पहले चरण में चार मंत्रियों को सरकार में शामिल कराया जा सकता है. इस विस्तार में कांग्रेस से एक और जेएमएम से तीन मंत्री शामिल हो सकते हैं. फिलहाल मुख्यमंत्री समेत कुल चार मंत्रियों से सरकार चल रही है. और 8 मंत्रियों को शपथ लेना बाकी है. इस बीच मंत्रिमंडल पर चर्चा के लिए मंत्री आलमगीर आलम (Alamgir Alam) भी दिल्ली पहुंच गये हैं.

जेएमएम से होंगे 5 मंत्री 

जेएमएम ने अपने कोटे से एक महिला को भी मंत्री बनाने के संकेत दिये हैं. सूत्रों के अनुसार पार्टी स्टीफन मरांडी, मथुरा महतो, चंपई सोरेन, जोबा मांझी, बैद्यनाथ राम, मिथिलेश ठाकुर, दीपक बिरुआ और हाजी हुसैन अंसारी के नाम पर मंत्रीपद के लिए विचार कर रही है. मंत्री बनाने में जातीय समीकरण, क्षेत्रीय संतुलन और अनुभव का ख्याल रखकर नामों पर मंथन चल रहा है. जेएमएम से सीएम छोड़कर कुल पांच मंत्री बनाये जाने हैं.

जेएमएम के केन्द्रीय महासचिव विनोद पांडेय ने कहा कि पार्टी की ओर से संभावित मंत्रियों की सूची बनायी जा रही है. गठबंधन दलों के साथ बैठक के बाद हेमंत मंत्रिमंडल विस्तार 14 जनवरी के बाद हो जाएगा.

कांग्रेस कोटे से तीन मंत्रियों पर मंथन 

कांग्रेस हेमंत सरकार में पांच मंत्रीपद चाहती है. दो मंत्रियों, रामेश्वर उरांव और आलमगीर आलम ने शपथ ले ली है. प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष राजेश ठाकुर ने स्पष्ट किया कि बाकी बचे मंत्रियों के लिए आलाकमान ही अंतिम निर्णय लेगा. उधर दिल्ली में मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि दो-चार दिन में मंत्रिमंडल का विस्तार हो जाएगा. मंत्री बनाने में जातीय और क्षेत्रीय समीकरण को ध्यान में रखा जाएगा.

वरिष्ठ पत्रकार और राज्य की राजनीति पर करीब से नजर रखने वाले विनय कुमार का कहना है कि मंत्रीपद की संख्या को लेकर कांग्रेस-जेएमएम में बात नहीं बन रही है. कांग्रेस पांच मंत्रीपद मांग रही है, जबकि जेएमएम चार देने पर अड़ी है. हालांकि कांग्रेस कोटे से वही विधायक मंत्री बनाए जायेंगे, जिनके नाम पर राहुल गांधी मुहर लगाएंगे.झारखंड में मुख्यमंत्री समेत कुल मंत्रियों के प्रावधान हैं. हालांकि पिछली रघुवर सरकार ने सीएम समेत 11 मंत्रियों के बूते ही शासन संभाला था. हेमंत सरकार में आरजेडी कोटे से सत्यानंद भोक्ता को मंत्री बनाया गया है.

इनपुट- उपेन्द्र कुमार, अमितेश

ये भी पढ़ें- चीन की सालों पुरानी चिकित्सा पद्धति को सरायकेला में मिल रहा बढ़ावा, असाध्य रोगों का होता है इलाज

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 3:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर