लाइव टीवी

सोशल सेक्टर पर फोकस करना चाहती है हेमंत सरकार, जानें कैसा रहेगा पहला बजट

News18 Jharkhand
Updated: February 5, 2020, 1:16 PM IST
सोशल सेक्टर पर फोकस करना चाहती है हेमंत सरकार, जानें कैसा रहेगा पहला बजट
हेमंत सोरेन सरकार 4 मार्च को विधानसभा में बजट पेश करेगी (फाइल फोटो)

संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि चुनाव के दौरान तीनों दलों के मेनिफेस्टो में जनता से जो वायदे किये गये थे, उन्हें बजट में शामिल किया जाएगा. किसानों की ऋणमाफी और बेरोजगारी को दूर करने पर फोकस रहेगा.

  • Share this:
रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) का बजट सत्र (Budget Session) 27 फरवरी से शुरू होकर 26 मार्च तक चलेगा. इस दौरान हेमंत सरकार (Hemant Soren Government) वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 4 मार्च को बजट पेश करेगी. यह बजट (Budget) भारी भरकम के बजाय संतुलित रहने वाला है. हेमंत सरकार निर्माण क्षेत्र को नजरअंदाज कर सोशल सेक्टर को प्राथमिकता देने वाली है. बजट में शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और बेरोजगारी दूर करने पर फोकस होगा.

बजट में रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य पर रहेगा जोर 

संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि चुनाव के दौरान तीनों दलों के मेनिफेस्टो में जनता से जो वायदे किये गये थे, उन्हें बजट में शामिल किया जाएगा. किसानों की ऋणमाफी और बेरोजगारी को दूर करने पर फोकस रहेगा. पुरानी योजनाओं की भी समीक्षा की जा रही है. साथ ही जनहित की नई योजनाएं भी लाई जाएंगी.

मुख्य सचिव डीके तिवारी ने कहा कि नई सरकार बजट के माध्यम से आम आदमी और सामाजिक दायित्वों पर फोकस करना चाहती है. ऐसे में बजट में रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रहेगा. निर्माण क्षेत्र पर इस बार ध्यान नहीं दिया जाएगा.

बजट से पहले राज्य सरकार जारी करेगी श्वेत पत्र 

बजट पेश करने से पहले राज्य सरकार श्वेत पत्र जारी करने की तैयारी में है. जिसके जरिए राज्य की वित्तीय स्थिति के बारे में जनता को जानकारी दी जाएगी.

पूर्व मंत्री राधाकृष्ण किशोर का कहना है कि हेमंत सरकार के सामने अगले तीन महीने में 44 हजार करोड़ की राजस्व प्राप्ति बड़ी चुनौती है. सरकार को बजट में कृषि क्षेत्र में ध्यान देने की जरूरत है. जिससे उत्पादन के साथ-साथ जीडीपी में इसका योगदान बढ़े.बता दें कि वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए पिछली रघुवर सरकार ने 85429 करोड़ रुपए का अनुमानित बजट पेश किया था. इसके विरूद्ध राजस्व व्यय के लिए 65803 करोड़ रुपए और पूंजीगत व्यय के लिए 19626 करोड़ रुपए का लक्ष्य प्रस्तावित था.

इनपुट- भुवन किशोर झा 

ये भी पढ़ें- झारखंड विधानसभा का बजट सत्र 27 फरवरी से, 4 मार्च को पेश होगा बजट 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 1:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर