लाइव टीवी

झारखंड के नये लोगो के लिए सरकार ने मांगे सुझाव, इस ईमेल आईडी भेजें सलाह

Naween Jha | News18 Jharkhand
Updated: January 26, 2020, 12:22 PM IST
झारखंड के नये लोगो के लिए सरकार ने मांगे सुझाव, इस ईमेल आईडी भेजें सलाह
29 दिसंबर को हेमंत सरकार के गठन के बाद पहली कैबिनेट की बैठक में राज्य के लोगो को बदलने का फैसला लिया गया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड नये राह की ओर है. सबकी आकांक्षाओं के अनुरूप हमारी मंत्रिपरिषद ने पहली बैठक में राज्य के नए लोगो (Logo) के निर्माण का निर्णय लिया. जो हमारी समृद्ध संस्कृति और विरासत का प्रतिबिंब हो.

  • Share this:
रांची. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन (CM Hemant Soren) ने गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मौके जनता से झारखंड के नये प्रतीक चिन्ह (LOGO) के लिए सुझाव मांगे हैं. लोग अपना सुझाव 11 फरवरी तक दे सकते हैं. इसके लिए एक ई-मेल आईडी जारी किया गया है. jharkhandstatelogo@gmail.com पर लोग अपनी सलाह भेज सकते हैं. झारखंड के वर्तमान प्रतीक चिन्ह में चार "जे" के बीच अशोक चक्र अंकित है.

कैबिनेट की पहली बैठक में लिया फैसला

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड नये राह की ओर है. सबकी आकांक्षाओं के अनुरूप हमारी मंत्रिपरिषद ने पहली बैठक में राज्य के नए लोगो (Logo) के निर्माण का निर्णय लिया. जो हमारी समृद्ध संस्कृति और विरासत का प्रतिबिंब हो. यह लोगो (Logo) हम झारखण्डवासियों का पहचान होगा. इसलिए इसके निर्माण में आपकी भागीदारी सबसे अहम है.

 

सुझाव इस रूप में भेजें
उद्देश्य---
सुझाव---डिजायन--

नाम --
पता --
फ़ोन --
ईमेल--

वर्तमान प्रतीक चिन्ह में चार "जे" के बीच अशोक चक्र अंकित है

झारखंड के वर्तमान प्रतीक चिन्ह में चार "जे" के बीच अशोक चक्र अंकित है. लेकिन 29 दिसंबर को नई सरकार के गठन के बाद पहली कैबिनेट की बैठक में इसे बदलने का फैसला लिया गया. हेमंत सरकार की कोशिश है कि नये लोगो में राज्य की समृद्ध संस्कृति और विरासत की झलक मिले. इसके लिए कवायद शुरू हो गई है. अब लोगों से इसके लिए सुझाव मांगे गये हैं.

तीन नई उपराजधानियां बनाने पर भी विचार 

बता दें कि 15 नवम्बर, 2000 को बिहार से अलग होकर झारखंड नया राज्य बना. झारखंड की राजधानी रांची और उपराजधानी दुमका है. लेकिन हेमंत सरकार अब मेदिनीनगर, चाईबासा और गिरिडीह को भी नई उपराजधानी बनाने पर विचार कर रही है. इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है. सीएमओ से मुहर के बाद कैबिनेट की मंजूरी के लिए इसे भेजा जाएगा.

ये भी पढ़ें- गणतंत्र दिवस पर सीएम हेमंत सोरेन का सख्त संदेश- भीड़तंत्र के आगे नहीं झुकेगी सरकार  

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 12:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर