लाइव टीवी

हेमंत सोरेन दूसरी बार बने झारखंड के मुख्यमंत्री, भव्य समारोह में दिखी विपक्षी एकता
Ranchi News in Hindi

Naween Jha | News18 Jharkhand
Updated: December 29, 2019, 5:35 PM IST
हेमंत सोरेन दूसरी बार बने झारखंड के मुख्यमंत्री, भव्य समारोह में दिखी विपक्षी एकता
झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के तौर पर हेमंत सोरेन ने शपथ ली. (फाइल फोटो)

हेमंत सोरेन (Hemant Soren) मोरहाबादी मैदान में आयोजित भव्य समारोह में मुख्यमंत्री पद की शपथ (Oath) ली. उनके साथ कांग्रेस के रामेश्वर उरांव, आलमगीर आलम और आरजेडी के सत्यानंद भोक्ता ने भी मंत्री पद की शपथ ली.

  • Share this:
रांची. जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन (Hemant Soren) दूसरी बार झारखंड के मुख्यमंत्री (Chief Minister) बन गये हैं. मोरहाबादी मैदान में आयोजित भव्य समारोह में उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ (Oath) ली. उनके साथ कांग्रेस के रामेश्वर उरांव, आलमगीर आलम और आरजेडी के सत्यानंद भोक्ता ने भी मंत्री पद की शपथ ली. सभी को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने शपथ दिलाई. शपथ से पहले हेमंत सोरेन ने मंच पर मौजूद अतिथियों का अभिवादन किया. हेमंत सोरेन के भव्य समारोह में कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी, आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी AAP सांसद संजय सिंह शामिल हुए.

शपथ ग्रहण के लिए हेमंत सोरेन अपने आवास से खुद कार ड्राइव करते हुए निकले. इस दौरान उनके साथ उनकी पत्नी कल्पना सोरेन भी थीं. दोनों पहले पिता शिबू सोरेन के आवास पर पहुंचे. जहां से माता-पिता को साथ लेकर मोरहाबादी मैदान पहुंचे. मंच पर हेमंत सोरेन ने पहले माता-पिता का आशीर्वाद लिया, फिर शपथ ली. उनके बाद आलमगीर आलम, फिर रामेश्वर उरांव और अंत में सत्यानंद भोक्ता ने शपथ ली.

ये हैं मंत्री
आलमगीर आलम पाकुड़ से विधायक बने हैं. पिछली विधानसभा में वे कांग्रेस विधायक दल के नेता थे. झारखंड विधानसभा में स्पीकर भी रह चुके हैं. रामेश्वर उरांव वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष हैं. पूर्व आईपीएस रामेश्वर उरांव लोहरदगा से विधायक बने हैं. वे केन्द्र सरकार में मंत्री भी रहे हैं. एसटी आयोग के अध्यक्ष भी रहे हैं. लोहरदगा से सांसद भी रहे हैं. सत्यानंद भोक्ता चतरा से विधायक बने हैं. सूबे के कृषि मंत्री रह चुके हैं. चुनाव के दौरान जेवीएम छोड़कर आरजेडी में आए थे.



शपथ ग्रहण समारोह में दिखी विपक्षी एकता


शपथ ग्रहण समारोह में मंच पर झारखंड के पूर्व सीएम रघुवर दास, बाबूलाल मरांडी, मधु कोड़ा और शिबू सोरेन मौजूद रहे. इनके अलावा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह, टी आर बालू, कांग्रेस सांसद अखिलेश सिंह, पूर्व सांसद उदित राज, तरूण गोगोई, सीएम भूपेश बघेल, सीएम अशोक गहलोत, सीएम ममता बनर्जी, डी राजा, जीतन राम मांझी, आप सांसद संजय सिंह, सीताराम येचुरी, तेजस्वी यादव, अतुल अनजान, शरद यादव, आरजेडी नेता जय प्रकाश नारायण यादव, अब्दुल बारी सिद्दकी, पूर्व सांसद शिवानंद तिवारी, डीएमके नेता एम के स्टालिन, सांसद कनीमोझी और टी आर बालू भी मौजूद रहे. शपथग्रहण समारोह में विपक्षी एकता और ताकत दोनों दिखीं.

हेमंत करेंगे पहली कैबिनेट की बैठक
शपथ ग्रहण कार्यक्रम के बाद हेमन्त सोरेन मोरहाबादी स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे. उसके बाद वीर शाहिद सिद्धो कान्हू के प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे. फिर राजभवन में हाई टी कार्यक्रम में शामिल होंगे. राजभवन से प्रोजेक्ट भवन जाने के क्रम में हेमंत बिरसा चौक स्थित भगवान बिरसा मुंडा के प्रतिमा पर भी माल्यार्पण करेंगे. प्रोजेक्ट भवन में हेमंत आज पहली कैबिनेट की बैठक शाम पांच बजे करेंगे.

इससे 6 साल पहले 13 जुलाई 2013 को हेमंत सोरेन पहली बार झारखंड के सीएम बने थे. तब उन्होंने 532 दिन सरकार चलाई थी. उस सरकार में भी कांग्रेस और आरजेडी उनके साथ थे.

ये भी पढ़ें- 

छोटे भाई बसंत सोरेन को भरोसा- झारखंड की समस्याओं को दूर कर पाएंगे हेमंत
First published: December 29, 2019, 2:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading