15 साल पुराने मामले में गृह सचिव व DGP तलब, वारंट तामिल नहीं होने पर हाईकोर्ट सख्त

न्यायाधीश केपी देव की कोर्ट में ये बात तब सामने आई जब उसी मामले के दूसरे दोषी हरि सिंह की अपील याचिका पर सुनवाई हुई.

News18 Jharkhand
Updated: September 11, 2018, 6:46 PM IST
15 साल पुराने मामले में गृह सचिव व DGP तलब, वारंट तामिल नहीं होने पर हाईकोर्ट सख्त
झारखंड हाईकोर्ट
News18 Jharkhand
Updated: September 11, 2018, 6:46 PM IST
लातेहार के एक मामले में 15 साल से वारंट की तामिल नहीं होने पर झारखंड हाइकोर्ट ने कड़ी नाराजगी जताई. कोर्ट ने इस सिलसिले में गृह सचिव, डीजीपी, डीआईजी, लातेहार एसपी, बरवाडीह थाना प्रभारी और केस के आईओ को तलब किया है. सभी को 14 सितम्बर को कोर्ट में हाजिर होकर जवाब देना है.

दरअसल कोर्ट जानना चाहती है कि आखिर किन परिस्थितियों में वारंट की तामिल अब तक नहीं हो पाई. न्यायाधीश केपी देव की कोर्ट में ये बात तब सामने आई जब उसी मामले के दूसरे दोषी हरि सिंह की अपील याचिका पर सुनवाई हुई. पता चला कि मामले के एक आरोपी दशरथ सिंह 15 साल से फरार है. और पुलिस अभी तक उसके खिलाफ जारी वारंट की तामिल नहीं कर पायी है.

बता दें कि वर्ष 2003 में लातेहार में वनरक्षी पर अंधाधूंध फायरिंग की गई थी. उस मामले में दो लोगों को आरोपी बनाया गया था. हरि सिंह को निचली अदालत से सजा मिली. लातेहार कोर्ट के उस फैसले को हरि सिंह ने हाइकोर्ट में चुनौती दी है. जबकि दूसरा आरोपी दशरथ सिंह पुलिस की पकड़ से अबतक दूर है. जानकारी में ये बात आते ही कोर्ट ने इस पर कड़ी नाराजगी जाहिर की.

(नीरज नयन चौधरी की रिपोर्ट)

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर