Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    रांची में ऑनर किलिंग! ढाई महीने बाद पुलिस ने जमीन खोदकर नाबालिग छात्रा के शव को निकाला बाहर

    परिजनों के मुताबिक छात्रा ने खुदकुशी कर ली, लेकिन पुलिस को ऑनर किलिंग का शक है. (सांकेतिक तस्वीर)
    परिजनों के मुताबिक छात्रा ने खुदकुशी कर ली, लेकिन पुलिस को ऑनर किलिंग का शक है. (सांकेतिक तस्वीर)

    बीते 30 अगस्त को रांची के नगड़ी थाना क्षेत्र में 16 वर्षीय छात्रा घर में संदेहास्पद स्थिति में मृत पाई गई थी. परिजनों ने पुलिस (Police) को सूचित किये बिना उसके शव को दफना दिया था.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 13, 2020, 7:14 PM IST
    • Share this:
    रांची. झारखंड की राजधानी रांची में ऑनर किलिंग (Honor Killing) का मामला सामने आया है. रांची के रातू प्रखंड के बानापीड़ी में पुलिस ने ढाई महीने पहले दफनाये गये नाबालिग के शव को जमीन खोदकर निकाला. बच्ची अपने मामा के घर रहकर पड़ती थी, जहां बीते 30 अगस्त को संदेहास्पद स्थिति में घर में उसकी लाश मिली थी. ढाई महीने बाद जब इसका पता पुलिस (Police) को चला, तो कार्रवाई करते हुए पुलिस ने शव को जमीन खोदकर बाहर निकाला. आगे मामले की छानबीन चल रही है.

    पुलिस के मुताबिक बीते 30 अगस्त को नगड़ी थाना क्षेत्र में 16 वर्षीय छात्रा अपने नाना के घर में संदेहास्पद स्थिति में मृत पाई गई थी. मामले की जानकारी पर पिता वहां पहुंचे और शव को नगड़ी से उठाकर रातू प्रखंड के बानापीड़ी में बिना पुलिस को सूचित किये दफना दिया.

    लेकिन अब ढाई महीने बाद जब नगड़ी पुलिस को इसकी जानकारी मिली तो ठाकुरगाव थाना के सहयोग से नाबालिग के शव को कब्र से बाहर निकाला गया.



    घटना के बारे में जो जानकारी मिली उसके मुताबिक नाबालिग छात्रा मामा के घर रहकर पढ़ाई कर रही थी. यहीं गांव के एक युवक के साथ उसका प्रेम प्रसंग हो गया. जिसको लेकर घर में कई बार विवाद भी हुआ. इसके बाद भी  नाबालिग को उस युवक के साथ देखा गया. तब बच्ची को जोर का डांट फटकार पिलाया गया.
    परिजनों का कहना है कि उसी डांट फटकार के बाद नाबालिग ने आत्महत्या कर ली. जिसके बाद परिजनों ने बगैर पुलिस को सूचित किये उसके शव को दफना दिया.

    परिवारवालों के मुताबिक ये मामला आत्महत्या की है, लेकिन पुलिस इसे ऑनर किलिंग से जोड़कर देख रही है. इसी एंगल से जांच भी की जा रही है. पुलिस को ये शक है कि जब बच्ची ने आत्महत्या की थी तो पुलिस को सूचित क्यों नहीं किया गया.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज