होम /न्यूज /झारखंड /JEE Advanced टॉपर तनिश ने बताए IIT क्रैक करने के सीक्रेट, इन 10 पॉइंट्स में समझें

JEE Advanced टॉपर तनिश ने बताए IIT क्रैक करने के सीक्रेट, इन 10 पॉइंट्स में समझें

 रांची के रहने वाले तनिश् अग्रवाल IIT मुंबई में कर रहे हैं पढ़ाई.

 रांची के रहने वाले तनिश् अग्रवाल IIT मुंबई में कर रहे हैं पढ़ाई.

Study Tips : आईआईटी मुंबई से कंप्यूटर साइंस से इंजीनियरिंग कर रहे तनिश अग्रवाल बता रहे हैं कि स्टूडेंट कैसे भटकाव वाली ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – शिखा श्रेया

रांची. ज़िले के डोरंदा के रहने वाले तनिश अग्रवाल को जेईई एडवांस 2022 की परिक्षा में ऑल इंडिया 57वीं रैंक हासिल हुई. उन्होंने आईआईटी मुंबई में कंप्यूटर साइंस में दाखिला लिया है. फिलहाल वह रांची स्थित अपने घर पर हैं. इस दौरान न्यूज़18 लोकल से उन्होंने खास बातचीत की. तनिश की स्कूलिंग टेंडर हार्ट स्कूल और प्लस टू मेकॉन स्थित जेवीम श्यामलि से हुई है. शुरू से ही आईआईटी में जाना उनका सपना था. कड़ी मेहनत और परिवार के सपोर्ट से यह सपना पूरा हुआ. आईआईटी का संपना संजोए स्टूडेंट्स के लिए तनिश ने कुछ टिप्स दिए हैं. आइए जानते हैं उन्होंने छात्रों को तैयारी के लिए 10 पॉइंट्स में क्या खास बातें बताई हैं.

1. तनिश ने बताया हर दिन एक रूटीन के साथ पढ़ाई की, साथ ही हर विषय को बराबर अहमियत दी. फिजिक्स में थोड़ा कमजोर था, लेकिन अधिक से अधिक सवाल हल करने से वह भी आसान लगने लगा.

2. स्कूल से आने के बाद तुरंत कोचिंग जाना होता था. वहां से रात करीब 8 बजे घर लौटता था. सिर्फ 3 घंटे ही सेल्फ स्टडी को मिलते थे. इस दौरान पूरी ईमानदारी से पढ़ाई की.

3. स्कूल छुट्टी वाले दिन 8 से 10 घंटे पढ़ाई करता था. कन्फ्यूजन होने पर स्कूल और कोचिंग के टीचर से हेल्प लेता था. टीचर ने पूरा सपोर्ट किया.

4. प्रैक्टिस पर बहुत ज़ोर रहता था. सभी विषयों के टेस्ट पेपर सॉल्व किए. जहां गलती होती थी, उसे फिर से पढ़ता था. ऐसा करने से कांसेप्ट क्लियर होता चला गया.

5. कई बार टेस्ट में अच्छे मार्क्स नहीं आते थे. इससे हताश होने के बजाय वीक पॉइंट पर मेहनत करने ज़रूरत रहती है.

6. तनिश ने कहा कि छात्रों के भटकाव के लिए कई चीजें हैं. इनसे दूर रहकर लगातार पढ़ाई करनी होती है. तब जाकर सफलता मिलती है.

7. आजकल जंक फूड खाने का चलन तेज़ है. तनिश का कहना है युवाओं को यह काफी पसंद भी होता है, लेकिन इस तरह के खाने से दिमाग की क्षमता कम होती है.

8. छात्रों को कभी भी नींद से समझौता नहीं करना चाहिए. नींद पूरी होगी, तभी पूरे मन से पढ़ाई कर सकेंगे. अपने आप को तनाव से दूर रखें और अपना 100% देने की कोशिश करें.

9. मोबाइल का कम से कम इस्तेमाल करें. मोबाइल भटकाव का सबसे बड़ा कारण है. सोशल मीडिया पर कम से कम समय दें.

10. घर पर पढ़ाई का माहौल होना बहुत ज़रूरी है. इससे छात्रों को पढ़ाई में मदद मिलती है. परिवार के सदस्यों को भी सहयोग करना चाहिए.

Tags: IIT Bombay, JEE Advance, Ranchi news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें